तीसरे ट्राइमेस्टर के दौरान मूड में बदलाव

गर्भावस्था के तीसरे ट्राइमेस्टर के दौरान मूड में बदलाव बहुत ही सामान्य बात है। हालाँकि, इसके पीछे सबसे प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन नामक हार्मोन का हाथ होता है जो महिलाओं के मूड में बदलाव लाता है। लेकिन, इस का मुख्य कारण फ्रस्ट्रेशन और बढ़ता हुआ बेबी बंप होता है। जिससे कि चलने, बैठने और सोने में परेशानी होती है।

ऐसे में आप अपने मूड परिवर्तन के दौरान ऐसा क्या करें, जिससे कि आपको उतनी परेशानी न हो-

  • सबसे पहली बात यह है कि आप अपने मूड में परिवर्त्तन को लेकर खुद को दोषी महसूस न करें। बल्कि, अपनी इस समस्या को अपने सबसे करीबी लोगों से शेयर करें।

  • समय-समय पर झपकी लें, और टहलने की भी कोशिश करें इससे न केवल आप फ्रेश महसूस करेंगी बल्कि आप का मूड भी सही रहेगा।

  • कोई बढ़िया सा म्यूजिक सुनें जिससे कि आपके मन को शांति मिले, और आपका मूड भी ठीक रह सके।

  • अपने आप को प्यार करें, खुद का ख्याल रखें इससे आपको बेहतर महसूस होगा।

  • मेडिटेशन करें और सांस लेने की तकनीक को जाने, जिसके द्वारा आपको आंतरिक शांति मिल सके।

  • बीमार जैसे दिखने वाले कपड़े न पहने, बल्कि खुद को अच्छे से ड्रेसअप करें। इससे आपको अच्छा फील होगा।

  • हमेशा अपने आहार में हेल्दी खाने को शामिल करें, और डब्बाबंद और मीठे चीजों से दूरी बनाएं।

यदि इन सब के बाद भी आपका मूड अच्छा नहीं रहता है, तो ऐसे में आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

loader