थर्ड ट्राइमेस्टर में योगा का महत्व

गर्भावस्था के दौरान, खासकर थर्ड ट्राइमेस्टर में योगा का एक अलग महत्व है। जिसमें अलग-अलग प्रकार के पोस्चर होते हैं, लेकिन ब्रीदिंग एक्सरसाइज और अच्छे संगीत का गुनगुनाना नियमित रूप से गर्भावस्था के दौरान मां और शिशु दोनों के लिए फायदेमंद होता है। एक तरह से, जन्म के पूर्व किया जाने वाला योगा गर्भ संस्कार का एक हिस्सा माना जा सकता है। जिसके तहत मानसिक संतुलन को ठीक रखा जाता है, और साथ ही आध्यात्मिक और शारीरिक व्यायाम पर भी जोर दिया जाता है जो माँ और बच्चे के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

तीसरी तिमाही में प्रसव पूर्व योग के लाभ-

  • थर्ड ट्राइमेस्टर में एक्सरसाइज करने से आपकी माशपेशियों को मजबूती मिलती है, जिससे कि आपको प्रसव के समय होने वाली कठिनाईयों से भी बहुत हद तक छुटकारा मिलता है।

  • प्रसव के दौरान योग करने से सांस लेने की तकनीक में सहायता मिलती है, जिससे कि अजन्मे बच्चे को अधिक से अधिक ऑक्सीजन की पूर्ति होती है।

  • यह आपके तनाव को कम करता है, जो कि थर्ड ट्राइमेस्टर के समय अच्छा माना जाता है।

हालाँकि, वह महिलाएं जो गर्भवती हैं, और पैरेंटल योगा नहीं कर रही हों वह तुरंत जाकर इसे ज्वाइन करें। लेकिन, ज्वाइन करने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

loader