प्रेग्नेंट हैं, तो देर रात स्नैक्स खाने से बचें

प्रेग्नेंसी में बहुत ज्यादा भूख लगना, स्वाभाविक है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप कुछ भी खा लें। इसलिए रात में सोने के कम से कम 2 घंटे पहले खाना खा लें। नहीं तो आपको सीने में जलन हो सकती है और सम्भव है कि जब आप सो कर उठे तो आपको अच्छा महसूस न हो।

करवट ले कर सोए

हो सकता है कि आपके डॉक्टर ले भी आपको यही सलाह दी हो। क्योकि करवट लेकर सोने से गर्भाशय पर कम दबाव पड़ता है और आपको साँस लेने में भी कोई परेशानी नहीं होती। बाई तरह करवट लेकर सोने से, बेबी तक खून और पोषक तत्वों का बहाव सही और तेज होता है, जो आपके बेबी के लिए बहुत अच्छा है।

अपने शरीर को सहारा दें

एक बहुत सॉफ्ट तकिए को अपने सिर के नीचे लगाए। आप अपने शरीर के ऊपरी हिस्से को थोड़ा ऊँचा रखते हैं, तो आपको काफी आराम महसूस होगा। क्योकि इससे आपके डायाफ्राम पर कम दबाव पड़ता है और साँस लेने में भी आसानी होती है।

छोटी और अच्छी नींद लें

अगर आपके सोने का समय हो गया है तो जरूर आराम करें, लेकिन 30 मिनट से ज्यादा न सोएं। अगर आप ज्यादा देर तक सो जाती हैं तो आप, गहरी नींद में चली जाएंगी और फिर दोबारा आपको उठने में परेशानी होगी।  

अपने कमरे का तापमान सही रखें

प्रेग्नेंसी में बॉडी थोड़ी गर्म रहती हैं। जिस कारण आपको हमेशा गर्मी लग सकती है और आप आराम से सो नहीं पाएंगी। इसलिए अपने कमरे का तापमान सही रखें, चाहें तो AC लगा लें।

बेड पर जाने से पहले थोड़ी देर के लिए अकेले हो जाए

सोने से पहले थोड़ी देर अपने आपको अकेला छोड़े, जैसे- स्मार्टफोन, समाचार पत्र, टेलीविजन, सब कुछ बंद करके बेड पर आ जाये। बिलकुल शांत माहौल में सोए।

कमरे की लाइट्स ऑफ कर दें

कमरे को बिलकुल शांत और अंधेरा कर लें। अगर कमरे में लाइट आएगी और इससे आप डिस्टर्ब हो सकती हैं। सही नींद न लेने से, हॉर्मोन मेलाटोनिन के बनने में रुकावट आती है। इससे आपकी नींद की साइकिल ख़राब हो सकती है। इसलिए सोने से पहले आराम से अपनी आँखें बंद कर लें और पर्दे लगा लें।

 

loader