प्रेगनेंसी में सर्दी और जुकाम से कैसे निपटे?

प्रेगनेंसी में, सर्दी, खांसी और जुकाम होना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन यदि संक्रमण साइनस का हो तो थोड़ी मुश्किल जरूर हो जाती है। यह संक्रमण मुख्य रूप से बैक्टीरियल, वायरल या फंगल हो सकता है, जो बंद नाक, गले और आंखों के आस-पास दर्द  पैदा करता है। साथ ही यदि आप इसका ट्रीटमेंट नहीं लेती हैं, या फिर खुद से ही कोई दवा ले लेती हैं, तो आपकी समस्या घटने के बजाय और बढ़ भी सकती है।  

हालाँकि, कुछ घरेलू उपचारों के जरिए आप इससे निजात पा सकती हैं।

क्या करें?

  • ढेर सारे तरल पदार्थों का सेवन करें और हाइड्रेटेड रहें, ताकि आपकी नाक खुली रह सके। इससे आपको साइनस के संक्रमण से लड़ने में मदद मिलेगी।
  • नोज़ स्प्रे का प्रयोग करें- प्रेगनेंसी में ज्यादातर महिलाएं सेलाइन वाटर का प्रयोग करती हैं, ताकि प्रेगनेंसी पर कोई असर न पड़े।
  • हुमीडिफर का प्रयोग करें- इसके अलावा, आप हुमीडिफर का प्रयोग कर सकते हैं, जो आपकी नाक को साफ करने में मदद कर सकता है। साथ ही यह छाती से बलगम निकालने में भी मदद करता है। आप गर्म पानी की भाप भी ले सकती हैं। इसके लिए आप, अपने सिर पर तौलिया ढ़ककर गर्म पानी वाले बर्तन की ओर झुकें और सांस के जरिये भाप अंदर लें। इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी।
  • यदि आपको खाँसी या गले में खराश है, तो गर्म तरल पदार्थ का प्रयोग करें, इसके अलावा नमक के पानी के गरारे भी आपके लिए उपयुक्त होते हैं।  
  • अच्छी तरह सोने की कोशिश करें, ताकि आपकी प्रतिरोधक क्षमता के निर्माण में मदद मिल सके।
  • यदि आपका खाना खाने का मन नहीं है, तो ऐसे में, अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए हेल्दी डायट लें। ।
  • यदि ठंड के साथ-साथ आपके सिर में दर्द भी हो रहा हो तो इसके लिए मालिश के साथ गर्म स्नान लें।
  • यदि आपको जुकाम के दौरान, पीला, हरा बलगम निकल रहा हो, और साथ ही बुखार 101°F से अधिक हो, खाने या सोने में रूचि न हो, तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, ताकि वह सही दवा दे सकें।
  • अपने सिर को थोड़ा ऊँचा रखें, जिससे कि आपको सांस लेने में मदद मिल सके।

loader