प्रेग्नेंसी में जरुरी 10 मिनरल्स और विटामिन्स

जब आप माँ बनने वाली होती हैं, तो सबसे जरुरी है कि आपका खान-पान स्वस्थ्य हो। जिससे आपको अपने और अपने गर्भ में पल रहे बेबी के लिए जरुरी सभी पोषक तत्व मिल सकेंगे। अगर आपका खान-पान पहले से ही ठीक नहीं है, तो यह और भी महत्वपूर्ण है कि आप अब स्वस्थ आहार खाएं। आपको अब और अधिक विटामिन और खनिज, विशेष रूप से फॉलिक एसिड और आयरन की जरूरत है। आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि कोई भी चीज बहुत ज्यादा मात्रा में न हो। क्योकि स्वस्थ्य प्रेग्नेंसी और स्वस्थ्य बेबी, दोनों के लिए जरुरी है कि डाइट बिलकुल बैलेंस हो।

 

हेल्थी प्रेग्नेंसी के लिए, जरुरी मिनरल्स और विटामिन्स

आयरन

आयरन, शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करता है। इससे आपको एनीमिया होने का ख़तरा नहीं होता। शरीर में पर्याप्त आयरन होने से, समय से पहले बेबी का जन्म और जन्म के समय बेबी का वजन कम होने जैसे खतरों से बचा जा सकता है।

स्त्रोत: बीफ, पोर्क, पालक, दलिया, आदि।

फोलेट

फोलेट/फॉलिक एसिड, प्लेसेंटा को सपोर्ट करने के लिए बहुत जरुरी मिरनल है। शरीर में  इसकी पर्याप्त मात्रा होने से, बेबी के स्पाइनल कॉर्ड (रीढ़) में डिफेक्टस  होने के खतरे को कम किया जा सकता है।

स्त्रोत: हरी पत्तेदार सब्जियों, संतरे, स्ट्रॉबेरी, मटर, आदि।

आयोडीन

आयोडीन, थायराइड हार्मोन, मोटर स्किल्स (अपने हाथों, पैरों और पुरे शरीर को कैसे प्रयोग करना है) और सुनने की शक्ति के विकास में मदद करता है।

स्त्रोत: सीफूड्स, दूध, सब्जियां, आदि।

ज़िंक

ज़िंक, ऐसे प्रोटीन को बनाता हैं, जो शरीर के विभिन्न अंगों को बनाने और जीन एक्सप्रेशन को नियंत्रित करने में मदद करता है।

स्त्रोत: मांस, सीफूड्स, दूध, फलियां, आदि।

कैल्शियम

यह, बेबी के दांतों और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। यह, मांसपेशियों और नसों को सही से काम करने के सहायता करता है। यह ब्लड क्लॉट बनने से भी रोकता है।

स्त्रोत: दही, दूध, हरी पत्तेदार सब्जियां, अनाज, आदि।

विटामिन ए

यह, दांतों और हड्डियों एक विकास में सहायक है।  

स्त्रोत: लिवर, अंडे, दूध, गाजर, आदि।

विटामिन बी

यह, एनर्जी लेवल को बढ़ाने और नर्वस सिस्टम को नियंत्रित करने में मदद करता है।

स्त्रोत: मीट, अंडे, साबुत अनाज, फलियां, आदि।

विटामिन सी

टिश्यू को डैमेज होने से बचाते हैं और आयरन को अवशोषित होने में मदद करते हैं।  

स्त्रोत: खट्टे फल, स्ट्रॉबेरी, आलू, ब्रोकोली, आदि.

विटामिन डी

शरीर को कैल्शियम का उपयोग करने में मदद करते हैं।

स्त्रोत: दूध, वसायुक्त मछली, सूरज की किरणें।

विटामिन इ

शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और मांसपेशियों को बनने में मदद करते हैं।

स्त्रोत: वनस्पति तेल, नट, पालक, आदि

 

प्रेग्नेंसी के समय, जरुरी पोषक तत्वों की पूर्ति करने के लिए, सप्लीमेंट की जगह, इसे अपने खान-पान से पूरा करने की कोशिश करें। बिना अपने डॉक्टर की सलाह के खुद से किसी भी सप्लीमेंट को न लें। ये आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

 

loader