प्रेगनेंसी में होने वाली ऐंठन से राहत के उपाय

जहाँ एक और प्रेगनेंसी बेहद ख़ुशी की खबर होती है, वहीं दूसरी और यह अपने साथ बहुत सारी परेशानियों को भी लेकर आती है। इन परेशानियों को हर एक महिला को झेलना ही पड़ता है, लेकिन इन परेशानियों से निपटने के लिए कुछ तरीके भी होते हैं, जिनके बारे में यदि आपको जानकारी है तो आप इन परेशानियों से आसानी से राहत पा सकती हैं। इन्हीं परेशानियों में से एक है, पैरों में होने वाली ऐंठन।

जब आपका वजन बढ़ता है तो उसका सारा भार आपकी मांशपेशियों पर आता है, जिसके कारण तनाव भी पैदा होते हैं। इसके अलावा यूटरस (गर्भाशय) वेना कावा पर बहुत अधिक दबाव बनाता है (खासकर पैरों और ह्रदय) पर, जिसके कारण प्रोजेस्टेरोन की मात्रा में अचानक से वृद्धि होती है, जो मसल्स टोन को प्रभावित करता है, और यही वजह है कि पैर की मांसपेशियों में दर्द उत्पन्न होता है।

इसके अलावा, आपके आहार में कैल्शियम और मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा नहीं होने के कारण भी  मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या उत्पन्न होती है। ऐसे में गंभीर ऐंठन की स्थिति उत्पन्न होने पर डॉक्टर से संपर्क जरूर करें, ताकि डॉक्टर आपको कुछ सप्लीमेंट दे सकें।

कुछ ऐसे घरेलू तरीके जिनसे मांशपेशियों में होने वाली ऐंठन से राहत पाई जा सकती है-

  • बेड पर जाने से पहले एक गर्म स्नान लें
  • पैरों को हिलाते-डुलाते रहें, जिससे कि रक्त का संचालन हो सके
  • रात में पैरों को उठा कर सोने की कोशिश करें।  
  • मांशपेशियों को राहत देने वाली एक्सरसाइज करें। दिवार से कम से कम एक मीटर दूर खड़े हों, और  दोनों हाथों से दिवार को आगे की तरफ धक्का दें। पांच-पांच सेकेण्ड के लिए यह व्ययाम तीन बार करें।
  • रोजाना अपने पैरों की एक्सरसाइज करें, जैसे- बेन्डिंग और स्ट्रेचिंग। इसके अलावा, अपने पैरों को किसी कुर्सी पर क्लॉक और एंटी-क्लॉक वाइज घुमाएँ।
  • लंबे समय तक खड़े होने के बाद पैरों को एक दूसरे पर चढ़ा कर बैठने से बचें।  

loader