प्रेगनेंसी में बार-बार यूरिन की समस्या से कैसे पाएं राहत?

बार-बार यूरिन पास करना प्रेगनेंसी के प्रारंभिक लक्षणों में से एक है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान, आपको बार- बार और अचानक से बाथरूम जाने की जरूरत महसूस होती है, और इस तरह की समस्या गर्भावस्था के अंत तक बनी रहती है।

प्रेगनेंसी में बार-बार यूरिन जाने की समस्या से निपटने से पहले यह जानना भी जरूरी है कि आखर यह समस्या होती क्यों है? प्रेगनेंसी में बार-बार यूरिन जाने के मुख्य कारण निम्न हैं-

  • प्रेगनेंसी के दौरान, आपके अंदर एचसीजी नामक हार्मोन की मात्रा में वृद्धि होती है, जिसके कारण पैल्विक क्षेत्र में रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है ।
  • इसके अलावा यूटेरस (गर्भाशय) ब्लैडर (मूत्राशय) पर दबाव बनाता है, जिससे कि ब्लैडर के पास यूरिन स्टोर करने के लिए जगह नहीं होता है, और यही कारण है कि बार-बार यूरिन पास करने जैसी समस्या उत्पन्न होती है। हालाँकि, यह समस्या सेकेंड ट्राइमेस्टर में अधिक होती है, और प्रेगनेंसी के अंतिम दिनों तक रहती है।

बार-बार यूरिन जाने के कारण आप पर्याप्त नींद और आराम भी नहीं कर पाती। जिसका असर आपके पूरे स्वाथ्य पर पड़ता है।

  • जब भी यूरिन के लिए जाएँ, तो थोड़ा आगे झुक कर यूरिन पास करें, इससे ब्लैडर के पूरी तरह से खाली होने में आसानी होती है।  
  • ड्यूरेटिक ड्रिंक (मूत्रवर्धक पेय) जैसे- कॉफी, चाय और शराब के सेवन से बचें क्योंकि, इससे आपको यूरिन पास करने की समस्या और ज्यादा बढ़ जाती है।  
  • यदि आपको लगता है कि कम पानी पीने से इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा तो ऐसी गलती बिलकुल भी न करें। क्योंकि, आपको अपने बच्चे के लिए हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी है। शरीर में पानी की कमी होने से आपको यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन भी हो सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि हाँ आप यह जरूर कर सकती हैं कि रात में तरल पदार्थों का सेवन न करें। इससे आपको बार-बार यूरिन नहीं जाना पड़ेगा और आप आराम से सो पाएंगी।
  • इसके अलावा आप केगेल व्यायाम करने की कोशिश करें, जिससे कि यूथेरा को नियंत्रण में रख कर बार-बार यूरिन पास करने की समस्या को भी कम किया जा सके।

loader