प्रेग्नेंसी में, एसिडिटी और सीने में जलन की समस्या

 

अक्सर प्रेग्नेंट लेडीज को, प्रेग्नेंसी की तीसरी तिमाही में एसिडिटी और सीने में जलन की समस्या होने लगती है। ऐसा, शरीर में हो रहे बदलाव (हॉर्मोन में बदलाव) के कारण हो सकता है। लेकिन कभी-कभी कुछ उल्टा-सीधा खाने से भी, एसिडिटी और सीने में जलन की समस्या हो सकती है।

एसिडिटी और सीने में जलन की समस्या से बचने के लिए, प्रेग्नेंट लेडीज को इन चीजों का सेवन नहीं  करना चाहिए-

  • वसायुक्त खाद्य पदार्थ
  • बहुत मसालें वाला खाना
  • चॉकलेट
  • खट्टे फल
  • कॉफी

इकट्ठें बहुत ज्यादा खाना खाने की बजाए, थोड़ा-थोड़ा खाये और खूब चबा कर खायें। थोड़ा-थोड़ा कौर बना कर, मुँह में डालें। सीधा बैठ कर खाना खाए और खाना खाने के कम से कम 2 घंटे तक सोएं नहीं।  

प्रेग्नेंसी में विटामिन K की जरूरत  

विटामिन के, हड्डियों को मजबूत और घाव को जल्दी भरने में मदद करता है। यह, माँ के पहले दूध (कोलोस्ट्रम) में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए प्रेग्नेंसी में और डिलीवरी के कुछ हफ़्तों तक, विटामिन के के सप्लीमेंट, खाने के लिए दिए जाते हैं।

निम्नलिखित चीजों में विटामिन के प्राकृतिक रूप से पाया जाता है-

  • हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे- पालक, मेथी, बथुआ, सरसों इत्यादि।
  • ताज़ी सब्जियाँ जैसे- हरी गोभी, फूल गोभी, पत्ता गोभी और फ्रेंच बीन्स।
  • फल जैसे- खरबूजा, आनर, अंगूर और अंजीर।
  • सोयाबीन
  • आटा

loader