प्रेगनेंसी में किस-किस की सुनु मैं?

जैसे ही लोगों को आपकी प्रेगनेंसी की खबर लगती है, और आपका बेबी बंप दिखाई देने लगता है, वैसे ही सभी को आपके बारे में जानने की उत्सुकता होने लगती है।  खासकर कुलीग, फ्रेंड्स, फैमली और पड़ोसियों की और से बधाई का सिलसिला शुरू हो जाता है, इतना ही नहीं लोग प्रेगनेंसी के टिप्स भी देने भी शुरू कर देते हैं। कई बार तो ऐसा भी होता है कि दो लोगों की राय एक दूसरे से अलग होती है। ऐसे में आपकी कनफ्यूज़न और ज्यादा बढ़ जाता है कि, किसकी सलाह मानें और किसकी नहीं।

ऐसे में बेहतर यही होगा कि आप जो भी निर्णय लें वह बेहद सोच समझ कर ही लें। यहाँ वहां से कोई बात सुनकर उस पर अम्ल करने से पहले अपने डॉक्टर से भी बात कर लें। आपकी डॉक्टर आपको गलत राय नहीं देगी। क्योंकि वह आपकी प्रेगनेंसी की स्थिति से भली भाँती वाकिफ हैं।

दूसरों की राय पर अम्ल करने से पहले ध्यान रखें कुछ बातें-

  • यदि उनके पास डॉक्टर की डिग्री है तो आप उनके प्रेगनेंसी के टिप्स को फॉलो कर सकती हैं, क्योंकि उनको इससे संबंधित जानकारियाँ होंगी। इसके अलावा, यदि किसी भी तरह की डिग्री न हो तो उन लोगों की बातें सुने लेकिन उन्हें अपनाने से पहले डॉक्टर से बात जरूर कर लें।  
  • वह महिलाएं, जो पहले से ही प्रेगनेंसी के अनुभवों से गुजर चुकी हैं, आप उनकी बातें भी सुन सकती हैं, लेकिन यहाँ भी यह ध्यान रखने वाली बात है कि हर एक महिला का शरीर और स्वास्थ्य अलग होता है। जरूरी नहीं, जो चीजें उनके लिए ठीक थी वह आपके लिए भी ठीक हो।   
  • प्रेगनेंसी में जो भी आपकी केयर करता हो और जिसके ऊपर आपकी देखभाल की जिम्मेदार हो, उसे अपने साथ अपने अपॉइंटमेंट पर जरूर लेकर जाएँ क्योंकि उनके पास सही जानकारी होना बेहद अवश्यक है।
  • नकारात्मक व्यक्तियों से दूरी बना कर रखें। कुछ लोगों को हमेशा ऐसी ही बातें करने की आदत होती है, वह हमेशा मुश्किलों की ही बाते करते हैं। ऐसे लोगों को नजरअंदाज करें।  

प्रेगनेंसी में, किसी भी महिला को सलाह देने वालों की लंबी कतार होती है। प्रेग्नेंट वुमन के लिए इस तरह की स्थिति से निपटना सच में कभी-कभी बहुत मुश्किल हो जाता है। ऐसी महिलाओं को यही सलाह दी जाती है कि वह अपने डॉक्टर की सलाह को वरीयता दे।

 

loader