प्रेगनेंसी में व्रत रखते समय ध्यान रखने योग्य जरूरी बातें

प्रेगनेंसी में व्रत रखते समय ध्यान रखने योग्य जरूरी बातें

भारत व्रत और त्यौहारों का देश है। यहाँ व्रत रखने का रिवाज सदियों से चला आ रहा है। यहाँ तक कि कुछ व्रत तो ऐसे भी होते हैं, जिन्हें जरूरी समझा जाता है। ऐसे में, यदि महिला गर्भवती हो तो, उसके लिए जहाँ एक और व्रत रखना जरूरी हो जाता है, वहीं दूसरी और उसकी प्रेगनेंसी के लिए यह नुक्सानदायक भी हो सकता है। उदाहरण के तौर पर, करवा चौथ, तीज और होई अष्टमी ऐसे ही त्यौहार हैं, जो महिलाओं  के लिए  परम्परागत तौर पर , अवश्यक होते हैं।  यहाँ तक कि प्रेगनेंसी में महिलाओं के लिए व्रत रखना उनकी और उनके बच्चे की सेहत के हिसाब से ठीक नहीं होता, वह व्रत रखने के लिए बाधित होती हैं।

ऐसे में यदि आपको व्रत रखने ही पड़ रहें हों, तो आपको अपनी देखभाल की ज्यादा जरूरत होती है। ख़ास तौर पर, यदि व्रत नवरात्री या रमजान के हों तो। क्योंकि इनकी अवधि बहुत लम्बी होती है।

क्या प्रेगनेंसी में फ़ास्ट करना सुरक्षित है?

हालाँकि, यदि आप पूर्ण स्वस्थ हैं, तो आप कुछ समय तक भूख को सहन कर सकती हैं। लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो आपके लिए फास्टिंग तकलीफदेह भी हो सकती है। खासकर यदि फास्टिंग गर्मियों में हो तो आप खाली पेट पानी भी ठीक से नहीं पी पाते। ऐसे में, आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी के अलावा, पानी की कमी भी हो सकती है, ऐसे में गर्मियों में आपको व्रत रखने से पहले एक बार और सोचने की जरूरत होती है।

ज्यादा देर तक भूखा रहने से आपको क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं?  

  • कमजोरी
  • बेचैनी
  • सिरदर्द
  • बेहोशी
  • चक्कर आना
  • एसीडिटी
  • घबराहट

आम तौर पर, व्रत रखना या कुछ समय तक पेट की मशीन को खाली छोड़ देना सेहत के लिए अच्छा होता है। हमारे शरीर के अंगों को भी कुछ समय तक आराम की जरूरत होती है। लेकिन यह बात गर्भवती महिलाओं पर लागू नहीं होती। उनके लिए फास्टिंग उचित नहीं होती।

वहीं कुछ व्रत तो बेहद कठिन होते हैं, उनमें पानी तक का भी सेवन वर्जित होता है। ऐसे में महिला का व्रत रखना उसकी और उसके होने वाले बच्चे की सेहत के लिए नुक्सानदायक हो सकता है। वहीं कुछ व्रत तो ऐसे होते हैं, ऐसे में प्रेग्नेंट महिलाओं का व्रत रखना और भी नुक्सानदायक हो सकता है।

वहीं कुछ व्रतों में आप फलाहार कर सकती हैं। इस तरह के व्रत आपके लिए कुछ हद तक ठीक हो सकते हैं। जितना हो सके ताजे फलों का सेवन करिये।

व्रत रखते समय ध्यान रखने योग्य कुछ बातें-

  • मल्टीविटामिन का सेवन जारी रखें
  • ऐसे फलों का सेवन ज्यादा न करें, जिनमें शुगर हो
  • चाय या कोफ़ी का सेवन न करें
  • प्रेगनेंसी और व्रत एक साथ हो तो, तला हुआ तो कुछ भी न खाएं
  • यदि मौसम गर्मी का है तो बाहर जाने से बचें और खूब सरे तरल का सेवन करें
  • आराम आपके लिए बहुत जरूरी है, इसलिए पर्याप्त आराम जरूर करें
  • कोशिश करें कि व्रत और प्रेगनेंसी के दौरान, भारी कार्य या एक्सरसाइज तो बिलकुल भी न करें
  • फास्टिंग से आपका सिस्टम थोड़ा धीमा हो जाता है। इसलिए कुछ भी अचानक से खा लेने के बजाय पहले कोई तरल जैसे नारियल पानी जरूर पी लें।
  • यदि आपको बहुत ज्यादा थकावट, बेहोशी, धड़कन का अनियमित होना, पेट में दर्द होना, उल्टी या मतली जैसी समस्याएं हो रही हैं तो डॉक्टर से तुरंत सम्पर्क करें।

loader