प्रेगनेंसी में तनाव को न होने दें अपने उपर हावी

प्रेगनेंसी के दौरान, महिलाएं बहुत अधिक तनाव में आ जाती हैं। जिसका असर आप और आपके बच्चे दोनों के स्वास्थ्य पर पड़ता है, और जो दोनों के लिए हानिकारक हो सकता है। लंबे समय तक तनाव लेने से हार्मोन और केमिकल में वृद्धि होती है, जिससे कि यह तनाव और चिंता प्लेसेंटा के माध्यम से बच्चे तक पहुँचता है। इतना ही नहीं, यह तनाव आपको बहुत अधिक थका देता है जिससे कि आपके शरीर में ऊर्जा का प्रवाह कम हो जाता है। ऐसे में, आपको तनाव लेने के बजाए खुद की और बच्चे की देखभाल करनी चाहिए।

आपकी सकारात्मक ही है, जो आपको इस दौरान होने वाले तनाव से बचा सकती है। यदि आप सकारात्मक और तनाव रहित रहेंगी तो इसका असर आपके बच्चे  के स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक ही पड़ेगा। इसमें कोई शक नहीं है कि सकारात्मक सोच रखने के बहुत फायदे हैं, जैसे अवसाद और तनाव के स्तर को कम कर आप एक आराम की जिंदगी जी सकती हैं।

गर्भावस्था के दौरान, डिप्रेशन की समस्या बेहद आम है, क्योंकि, इसके कारण बहुत सारे हार्मोनल परिवर्तन देखने को मिलते हैं। जिससे कि माँ और अजन्मे बच्चे दोनों को प्रभावित कर सकता है, ऐसे में आपको चाहिए कि अपने और बच्चे का ख्याल रखें।

तनाव से निपटने के बहुत सारे प्रभावी तरीके हैं, जिसका प्रयोग आप कर सकती हैं। जिनमें निम्न शामिल हैं-

  • तनाव से निपटने के लिए बेहतर यही होगा कि आप खुद का ख्याल रखें और अच्छा महसूस करें,
  • समस्याओं और कठिनाइयों से निपटने के लिए  खुद को समय दें,
  • आप अपने अंदर के दर्द, तनाव और इसके प्रभाव को कम करने की कोशिश करें, जिससे कि आप ताजा महसूस कर सकती हैं,
  • जब संकुचन महसूस हो तो इस लड़ने में खुद की मदद करें,
  • यदि आप तनावमुक्त रहेंगी तो प्रसव के दौरान आपको मदद मिलेगी।

loader