प्रेगनेंसी में बाहर खाते समय रखें कुछ बातों का ख्याल

यह बिल्कुल सच है कि हमेशा घर का खाना खाने से मन ऊब जाता है और कभी-न-कभी आपका मन कहने लगता है कि चलो बाहर जाकर कुछ खाते हैं।  हम सभी जानते हैं कि बाहर के खाने की गुणवत्ता पर आप आँख मूँद कर यकीन नहीं कर सकते। खासकर जब आप प्रेगनेंट हों। ऐसे में, आप कहीं और बाहर खाना खाने जा रही हैं या घर पर ही रेस्टोरेंट का खाना मंगा रही हैं, तो सबसे पहले वहां के साफ़-सफाई की जरूर जांच कर लें। वह रेस्टोरेंट आपका जांचा-परखा और भरोसेमंद होना चाहिए। इसके अलावा भी कुछ अन्य बातों का ध्यान रखने की जरूरत होती है।

जैसे-

  • अपने भोजन को मिस बिल्कुल न करें। साथ ही हमेशा वहीं खाना खाएं, जो उस मौसम के अनुसार सही हो।  
  • बाहर से मांगा रहीं हैं, तब भी घर पर सलाद, जरूर बनाएं। खाना परोसने में भी हाइजीन का ख्याल रखें।  
  • नॉनवेजिटेरियन महिलाओं को खासकर मछली या सी फ़ूड मांगते समय खासी ख्याल रखना चाहिए। वह अधपका तो बिलकुल न हो, नहीं तो नतीजा फ़ूड पॉइजनिंग के रूप में सामने आ सकता है।  
  • यदि आपको डेजर्ट खाने की इच्छा हो तो, क्रीम ब्रुली या कारमेल कस्टर्ड का चुनाव बेहतर होगा खासकर जिनमें अंडे हों।
  • बहुत सारा पानी पिएं ताकि डिहाइड्रेशन की समस्या न हो।

 

बाहर खाते समय इनसे बचें

  • बहुत ज्यादा न खाएं, सीमित मात्रा में लें।
  • बाहर के खाने के साथ-साथ बाहर के पानी और दही खाने से बचें क्योंकि, यह आपको संक्रमित कर सकता है। खासकर गर्मी और मानसून के समय में सावधानी बरतें,
  • वैसे जगहों पर कच्चे फल, सब्जी और सलाद न खाएं जहां सफाई नहीं हो,
  • सॉस, मेयोनेज़ और डेजर्ट का प्रयोग न करें, खासकर जो कच्चे अंडे से बनाया गया हो,  
  • कैफीनयुक्त पेय पदार्थों से बचें,
  • वैसे खाद्य पदार्थों से बचें जिसमें अजीनोमोटो हो, जैसे कि पैकेज्ड फ़ूड और चाइनिज फ़ूड,   
  • कच्चे या अधपके मछली से बचें, खासकर जो ताज़ी न हो,  
  • मोल्ड- राइपनेड या ब्लू- वेनेड चीज़ के सेवन से बचें,
  • बहुत अधिक स्पाइसी या फैटी फ़ूड खाने से बचें क्योंकि, यह हार्टबर्न या एसिडिटी की समस्या को बढ़ा सकता है,
  • वैसे आइस खाने से बचें, जिसके पानी की गुणवत्ता सही न हो।

loader