प्रेगनेंसी के शुरूआती दिनों में महिलाएं इन 4 बातों को न करें नजरअंदाज़ !

गर्भावस्था का नौ महीना काफी मुश्किल भरा होता है, जिसमें महिलाओं को खुद का विशेष तौर से ध्यान रखना होता है। लेकिन, प्रेगनेंसी के शुरुआती पहले ट्राइमेस्टर में माँ को हर कदम संभल कर रखना होता है क्योंकि, यह समय बहुत खतरनाक होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, इन दिनों महिला के शरीर में सबसे अधिक हार्मोनल बदलाव होते हैं। खासतौर से आपको इन दिनों कुछ ऐसे लक्षण हैं जिन पर ध्यान देना जरूरी होता है जैसे कि मतली , उल्टी या फिर हल्के तौर से रक्तस्राव के रूप में। इसके अलावा, भी कुछ बातें हैं जिसे महिलाओं को इन दिनों विशेष तौर पर ध्यान देनी चाहिए, जिनमें निम्न शामिल हैं-

योनि से ब्लीडिंग की समस्या

यदि किसी महिला के योनि से कम मात्रा में  ब्लीडिंग हो रहा हो तो यह सामान्य माना जाता है लेकिन यही रक्तस्राव बहुत अधिक मात्रा में हो रहा हो तो यह गर्भपात का संकेत हो सकता है। इसके अलावा, यदि आपको ब्लीडिंग के साथ-साथ ऐंठन की समस्या हो रही हो तो यह भी गर्भपात का संकेत हो सकता है।

योनि में खुजली की समस्या

यदि किसी महिला को गर्भवस्था के दौरान योनि में खुजली की समस्या उत्पन्न हो रही हो तो यह संक्रमण के लक्षण हो सकते हैं जो गर्भावस्था के लिए गंभीर स्थिति पैदा कर सकतें हैं । इतना ही नहीं, यह संक्रमण आपके  बच्चे को नुकसान पहुँचा सकता है। ऐसे में महिलाएं इस तरह की स्थिति उत्पन्न होने पर अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

यूरिन पास करते समय जलन

यदि किसी गर्भवती महिला को यूरिन पास करते समय जलन या दर्द की समस्या उत्पन्न हो रही हो तब यह यूरिन इंफेक्शन का एक लक्षण हो सकता है। ऐसे में, इस तरह की समस्या उत्पन्न होते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

जरूरत से ज्यादा उल्टी होना

गर्भावस्था के पहली तिमाही के दौरान मतली और उल्टी एक आम समस्या है, लेकिन यदि यह समस्या जरूरत से ज्यादा हो रही हो तब यह डीहाइड्रेटेड का कारण हो सकता है। यदि आप 12 घंटे से अधिक किसी भी तरल पदार्थ या पानी को अपने अंदर नहीं पचा पा रहीं हैं तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

loader