प्रेग्नेंसी के 5वें हफ्ते में इन लक्षणों को न करें अनदेखा

माँ बनना, किसी भी महिला के लिए हर अनुभव से परे है। जब भी कोई महिला माँ बनती है, तो उसके मन में  बहुत से सवाल होते हैं। जैसे, इस दौरान मुझे क्या करना चाहिए या क्या खाना चाहिए। जाहिर है, इस दौरान आपको अपने शरीर में भी बहुत से बदलाव नज़र आते हैं, जो कि सामान्य हैं। लेकिन कुछ ऐसे लक्षण भी होते हैं, जिन्हें आपको नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए, विशेषकर अगर आप प्रेग्नेंसी के 15वे सप्ताह में हैं तो।

लक्षण, जिन्हें प्रेगनेंसी के 5वें हफ्ते में नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए-  

  • स्पोटिंग या ब्लीडिंग-इस समय सर्विक्स बहुत ज्यादा सेंसिटिव हो जाता है, इसलिए आपको हल्की स्पोटिंग या ब्लीडिंग हो सकती है। लेकिन अगर आपको मॉडरेट या बहुत हैवी ब्लीडिंग हो रही हो तो यह बिलकुल भी सामान्य नहीं है। साथ ही अगर आपको बुखार, दर्द या ठंढक महसूस हो रही हो, तो इसे बिलकुल भी नज़रअंदाज न करें। इससे आपको, अस्थानिक गर्भावस्था, प्लेसेंटा एरबशन, प्लेसेंटा प्रेविया, समय से पहले लेबर, यहां तक कि गर्भपात भी हो सकता है।
  • बुखार-अगर आपको बहुत तेज बुखार है लेकिन फ्लू के लक्षण नज़र नहीं आ रहे हैं, तो आपको  इन्फेक्शन भी हो सकता है। अगर आपके शरीर का तापमान 102°F से ज्यादा होता है तो यह आपके और बेबी दोनों के लिए खतरनाक हो सकता है। 
  • पेट में दर्द- पेट के किसी भी हिस्से (ऊपर, बीच या निचले) में दर्द होना खतरनाक है। यह प्रीक्लेम्पसिया, एक्टोपिक प्रेग्नेंसी, प्लेसेंटा एरबशन, प्लेसेंटा प्रेविया, समय से पहले लेबर, यहां तक कि गर्भपात के लक्षण भी हो सकते हैं।   
  • हाथों और पैरों में सूजन- इस समय हाथों और पैरों में सूजन होना बहुत आम बात है। लेकिन अगर आपको ऐसे अचानक, गम्भीर और सर में दर्द या देखने में परेशानी हो रही है तो यह प्रीक्लेम्पसिया के लक्षण हो सकते हैं।
  • बेबी के मूवमेंट के कमी- जब आपका बेबी एक बार मूव करना शुरू कर देता है तो आपको उसके मूवमेंट पैटर्न पर ध्यान रखना जरूरी है। अगर बेबी, सामान्य की तुलना में कम मूवमेंट कर रहा है तो यह चिंता की बात हो सकती है। अगर आपको बेबी के मूवमेंट पैटर्न में भी कोई बदलाव लग रहा है तो भी ध्यान दें और अपने डॉक्टर से सलाह लें।

प्रेग्नेंसी के किसी भी अवस्था में यदि आपको ऊपर बताए गए 5 लक्षणों में से कुछ भी नज़र आये तो बिना संकोच के अपने डॉक्टर से जरूर बात करें।

loader