प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज़ की समस्या से कैसे बचें?

प्रेगनेंसी में होने वाली छोटी-मोटी समस्याओं में से एक, कब्ज़ भी है। कब्ज़ की समस्या प्रेगनेंसी में, ज्यादातर महिलाओं को होती ही है। हालाँकि यह किसी को भी हो, परेशानी का सबब तो बन ही जाती है, लेकिन जब यह प्रेग्नेंट महिलाओं को हो तो, उनकी गर्भावस्था की परेशानियां और भी बढ़ जाती हैं।

प्रेगनेंसी में क्यों होती हैं, कब्ज़ की ज्यादा सम्भावनाएं?

दरअसल प्रेगनेंसी के दौरान, महिलाओं के शरीर में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते हैं। यूट्रस (गर्भाशय) फ़ैल जाता है। इस दौरान, आँतों की मांशपेशियों को भी आराम की जरूरत होती है। मांशपेशियों के आराम के दौरान, आँतों में इकट्ठे अपशिष्ट पदार्थ वहीं पड़े रह जाते हैं। जिसके कारण प्रेग्नेंट लड़ी को कब्ज की शिकायत हो जाती है।

उपचार

फाइबर- यह सच है कि रेशेदार खाद्य पदार्थ कब्ज की समस्या से राहत दिलाता है। खासतौर पर, साबुत अनाज ब्रेड, फलियां (मटर और सेम) ताजे फल और सब्जियाँ (कच्चा या हल्का पका हुआ) या सूखे फल के तौर पर। इसके अलावा, हरी सब्जियाँ भी फायदेमंद होती हैं। साथ ही किवी बहुत फायदेमंद होता है। गर्भवती महिलाएं सफेद खाद्य पदार्थों से दूर रहें क्योंकि, गर्भावस्था पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है।

जरा संभलकर- एक बार आपको कब्ज़ होने के बाद, अचानक से ऐसी चीजों या फाइबर का सेवन शुरू न कर दें, जो नियत मात्रा से अधिक हो। क्योंकि अति किसी भी चीज की अच्छी नहीं होती। हर एक आहार के दौरान, थोड़ा-थोड़ा फाइबर लें। इसे अन्य पोषक तत्वों में शामिल करें। ज्यादा मात्रा में फाइबर लेने से गैस की समस्या हो सकती है।  

कम भोजन करें- गैस की समस्या से बचने के लिए एक ही बार में बहुत ज्यादा खाने के बजाय थोड़ा-थोड़ा भोजन करें। क्योंकि, ज्यादा मात्रा में भोजन करने से पाचन में दिक्कत आती है, जो कब्ज के कारण को पैदा कर सकता है।

खूब पानी पिएं- एक दिन में कम से कम 8 ग्लास पानी पिएं, ऐसा करने से कब्ज की समस्या वैसे भी नहीं होगी और आपको इसके लिए अतिरिक्त प्रयास भी नहीं करने पड़ेंगे।

अपनी खुराक पर गौर करें- बहुत से ऐसे सप्लीमेंट, जो प्रेग्नेंट वुमेन के लिए तो अच्छे होते हैं, (पेरेंट विटामिन, कैल्शियम और आयरन), लेकिन साथ ही कब्ज का कारण भी बन सकते हैं। ऐसे में, सप्लीमेंट लेने से पहले ही समस्याओं के लिए तैयार रहें।

हमेशा बैठी न रहें- गर्भावस्था के दौरान, नियमित व्यायाम कब्ज की समस्या से राहत दिलाती है। ज्यादतर बैठी न रहें। सुबह और शाम टहलना आपके लिए बहुत अच्छा है। इस बारे में डॉक्टर से बात भी कर लें कि आपके लिए क्या सही है और क्या गलत।  

उत्तेजक पदार्थों से दूर रहें- कब्ज़ की समस्या में हम अक्सर, जुलाब या अन्य ऐसे पदार्थों का प्रयोग करते हैं, जिससे कब्ज़ की समस्या से छुटकारा मिल जाता है। जब आप प्रेग्नेंट हों, तो ऐसी चीजों से दूर रहें। पहले से ही फाइबर युक्त आहार का सीमित मात्रा में सेवन करने के साथ-साथ अपने डॉक्टर के साथ भी सम्पर्क में रहें

गर्भावस्था के समय महिलाओं में,  हार्मोनल परिवर्तन होते हैं, जिसके कारण कब्ज़ की समस्या उत्पन्न है। अधिक दवाईयों के सेवन करने से भी कब्ज़ की समस्या पैदा हो सकती हैं ।

loader