प्रेगनेंसी का 29 वां हफ्ता

इस हफ्ते में, बच्चे का तेज़ी से विकास होने के कारण आपको भूख अधिक लग सकती है। ऐसे में, आपका मन चटपटा और मीठा खाने का हो सकता है। हालाँकि, प्रेग्नेंसी के तीसरे ट्राइमेस्टर में, गर्भवती महिलाओं को खूब सारे प्रोटीन, विटामिन C, फोलिक एसिड, कैल्शियम और आयरन लेने की जरूरत होती है। कैल्शियम से बच्चे की हड्डियों को मजबूती मिलती है और अन्य पोषक तत्व उसके शारीरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

इसके अलावा, यदि आप प्रेगनेंसी के इस समय में आप एक्सरसाइज कर रही हैं तब तो बहुत अच्छी बात है। क्योंकि, एक्सरसाइज के जरिये आपके मांशपेशियों को मजबूती मिलती है, जो आपके डिलवरी के समय आसानी से फ़ैल सकती हैं। इसके अलावा, आप चाहें तो पैरेंटल योगा भी अपना सकती हैं, जो कि बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। लेकिन, इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपको एक अच्छा इंस्ट्रक्टर ट्रेनिग दे रहा हो।

इसके अलावा, वैरिकाज़ नसों के विकास की संभावना भी बढ़ जाती है, क्योंकि गर्भावस्था के दौरान रक्त की मात्रा में वृद्धि होती है, और यही कारण है कि गर्भाशय पेल्विक वेंस पर दवाब बनाने लगता है। यह वैरिकाज़ नस आपके मलाशय या योनी में हो सकता है। लेकिन, इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप एक पोजीशन में न रहें जैसे कि न तो ज्यादा देर तक बैठना और न ही ज्यादा देर तक खड़ा होना।  

इन सब के अलावा भी कुछ लक्षण इस हफ्ते दिखाई दे सकते हैं-

  • कब्ज

  • माइग्रेन

  • बवासीर

  • प्रेगनेंसी ब्रेन

  • तेजी से नाखून का बढ़ना

  • ईर्ष्या या अपच

  • पैरों में बैचेनी होना

हालाँकि, इस तरह की समस्या जब जरूरत से ज्यादा बढ़ने लगे तो समय रहते डॉक्टर से संपर्क करें।

loader