प्रसव के बाद भूलकर भी महिलाएं इन 5 अंगों को न छूएं

प्रसव के बाद महिलाओं को अपना खास ख्याल रखना पड़ता है, क्योंकि इस समय न केवल आपकी जिम्मेदारी बढ़ती है। बल्कि इसके साथ-साथ आपको खुद से ज्यादा अपने शिशु के बारे में सोचना चाहिए। शायद आपको पता होगा कि इस समय शिशु के साथ-साथ माँ को भी संक्रमण होने का खतरा रहता है। इसलिए, माँ को ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे कि आपके साथ-साथ आपके बच्चे को भी संक्रमण हो। क्योंकि, कभी-कभी कुछ महिलाएं अपने शरीर के कुछ अंगों को बार-बार छूती हैं जिससे कि सबसे अधिक इंफेक्शन फैलता है।  

ऐसे में, निचे कुछ ऐसी बातें बताई जा रही हैं, जिसको जरूर ध्यान में रखा जाना चाहिए, जो निम्न हैं-  

टांकों को बार-बार छूने से बचें

यदि आपका शिशु सिजेरियन पैदा हुआ है तब आपको बार-बार टांकें वाली जगह को छूने से बचना चाहिए। क्योंकि, यह आपकी तकलीफ को बढ़ा सकता है, इतना ही नहीं इसे हमेशा छूने से संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। जिससे कि आपको काफी दर्द का सामना करना पड़ सकता है।

हालाँकि, इसके संक्रमण से बचने के लिए इन जगहों को साफ और सूखा रखें ताकि यह जल्दी से ठीक हो सके।

योनि मार्ग को छूने से बचें

यदि आपका बच्चा सामान्य प्रसव से हुआ है तो इसमें कोई शक नहीं है कि आपको योनि मार्ग में काफी दर्द का सामना करना पड़ता है। क्योंकि, इस वक़्त यहाँ की मांशपेशियों में काफी दर्द होता है, और साथ ही रक्तस्राव की समस्या भी रहती है। इसलिए, इन जगहों को छूने से बचें, क्योंकि बार-बार इस जगह को छूने से आपके शिशु को भी संक्रमण हो सकता है।

हालाँकि, पेरिनियम के दर्द से राहत पाने के लिए आप दिन में एक या दो बार एंटीसेप्टिक डालकर हल्के गर्म पानी के टब में भी बैठ सकती हैं। क्योंकि, इससे पेरिनियम क्षेत्र को आराम और सूजन से राहत मिलेगी। साथ ही कीटाणुओं और संक्रमण होने का खतरा भी कम हो जाएगा।

इसके अलावा, जो सबसे ज्यादा जरूरी हैं वह यह हैं कि इस दौरान महिलाओं को अपने योनि की साफ-सफाई का विशेष तौर पर ख्याल रखना चाहिए। खासकर जब आप यूरिन पास करती हों तब उस जगह को पानी से धुलना न भूलें। क्योंकि, ऐसा करने से संक्रमण का खतरा कम हो जाता है।

बार-बार स्तन को न छूएं

इस समय आपके स्तनों का संवेदनशील होना बेहद आम बात है, क्योंकि जब आप शिशु को दूध पिलाती हैं तब आपके स्तनों में दर्द और खिंचाव महसूस हो सकता है। इतना ही नहीं आपके निप्पल में भी दर्द या सोर की समस्या उत्पन्न हो सकती है जिससे कि आप उसे बार-बार छु सकती हैं। लेकिन, ऐसा करने से आपके हांथों की गंदगी वहाँ तक पहुँचती है और जब शिशु स्तनपान करता है तब उसमें सबसे ज्यादा संक्रमण होने का खतरा रहता है। इसलिए, इन जगहों को छूने से बचें।

इसके अलावा, आप यदि चाहें तो अपने स्तन की हल्के गुनगुने पानी से सिकाई कर सकती हैं, और साथ ही आप अपने निप्पल पर नारियल या गाय का घी लगा सकती हैं जिससे कि दर्द की समस्या कम होगी।

पीछे के हिस्से को न छूएं

प्रेगनेंसी के बाद आपको गुहा के क्षेत्रों में भी दर्द की समस्या रहती है, जिससे कि आपको दर्द जलन या खुजली हो सकती है, और ऐसे में आपका हाँथ वह जा सकता है। अगर आप वहां बार-बार छूती हैं तब आपके शिशु को संक्रमण हो सकता है। इसलिए, उन जगहों को छूने से बचें ताकि आप अपना और अपने बच्चे का बखूबी ख्याल रख सकें।

नाक को बार-बार छूना

यदि इस दौरान आपको सर्दी या जुकाम की समस्या उत्पन्न होती है तब आप बार-बार अपने हांथों को नाक के पास लेकर जाती हैं। हालाँकि, यदि आपमें जुकाम की समस्या है तो शिशु तक आसानी से पहुँच सकता है। क्योंकि, इस समय शिशु  पूर्ण रूप से दूध पीता है, इसलिए उसमें भी जुकाम होना स्वाभाविक है। लेकिन, इसके वाबजूद भी आप पाने शिशु को इन समस्या से बचा कर रखें।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं

Feature Image Source

loader