पोस्ट-डिलीवरी के बाद सोच-समझ कर करें मालिशवाली का चयन

प्रसव के बाद सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि आख़िरकार शरीर की मालिश किससे कराई जाए। क्योंकि, ज्यादातर महिलाएं या तो मालिश स्पेसलिस्ट या मालिशवाली को रखती हैं। खासकर, यदि आपको एक नॉर्मल डिलीवरी हुई है या सीजेरियन सेक्शन दोनों ही मामलों में मालिश की बहुत ज्यादा जरूरत पड़ती है। इतना ही नहीं यह माँ के साथ-साथ नवजात शिशु के लिए भी मालिश बहुत फायदेमंद माना जाता है। हालाँकि, जो महिलाएं मालिश में एक्सपर्ट होती हैं, वह माँ और बच्चे दोनों के कामों को बखूबी करती हैं।

इनके कामों में निम्न शामिल हैं-

  • नवजात शिशु की मालिश

  • मां की मालिश

  • माँ और बच्चे के कपड़े को धुलना

  • उनके कमरे की साफ-सफाई करना

हालाँकि, ज्यादातर मालिशवाली किसी भी परिचित के रेफ्रेंस पर रखी जाती हैं। लेकिन आजकल, आप एजेंसियों या सैलून से भी मालिशवाली की मदद ले सकते हैं। इसके लिए आप प्रसव से पहले इसकी खोजबीन कर सकती हैं, ताकि प्रसव के तुरंत बाद मालिश करा सकें।

किसी भी मालिश स्पेसलिस्ट को रखने से पहले इन बातों की जाँच जरूर कर लें, जो निम्न हैं-

  • मालिशवाली की नियुक्ति करने से पहले उस एजेंसी या व्यक्ति की जाँच-पड़ताल कर लें।  

  • उसके एक्सपीरियन्स की जरूर जाँच कर लें, कि वह प्रॉफेशनली ट्रैंड है या नहीं। इसके लिए आप उसके सर्टिफिकेट की जाँच करें।

  • उसके स्वच्छता की जाँच करें, साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि वह आपके स्वच्छता का कितना ख्याल रखती है। साथ ही उसे मसाज करने से पहले अपने हाथों को साफ करने के लिए कहें, और उसके नाखून की भी जाँच करें कि वह कटे हैं या नहीं। इसके अलावा, आप उसे जो मसाज तेल के लिए कहें वह उसी से मसाज करे।

साथ ही उसे नौकरी पर रखने से पहले उसके कामों को अच्छे से समझा दें। खासकर, जब आपको एक सीजेरियन सेक्शन से प्रसव हुआ हो, तब उसे योजनाओं में परिवर्तन और मालिश के तकनीकों के बारे में बताएं। साथ ही उसके सैलरी और कितने दिन मसाज करने हैं आदि की पूरी जानकारी उसे दें। ताकि बाद में उसे किसी बात को लेकर कोई गलतफहमी न हो। 

loader