महीने के हिसाब से प्रेगनेंसी डाइट चार्ट

जैसे ही आपको पता चलता है कि आप माँ बनने वाली हैं, तब आपको जो ख़ुशी मिलती है शायद वह दुनिया की सबसे बड़ी ख़ुशी होती हैं। लेकिन, इसके साथ ही आपके दिमाग में कई सारे सवाल भी उठने लगते हैं कि पूरे नौ महीने कैसे और क्या करना है। लेकिन, इसमें आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि, आज हम आपको गर्भावस्था के पूरे नौ महीने के डाइट चार्ट के बारे में बताएंगे जिसे फॉलो कर आप अपना और अपने बच्चे का ख्याल बखूबी रख सकती हैं। लेकिन, इसके लिए जरूरी है कि आप इन डाइट चार्ट को बहुत ही सख़्ती से फॉलो करें। ऐसे में, निचे कुछ बातें बताई जा रही हैं जिसका ध्यान हर गर्भवती महिला को रखना चाहिए।

गर्भवस्था का पहला, दूसरा और तीसरा महीना

अब आप यह सोच रही होंगी कि हमने तीनों महीने के लिए एक ही डाइट फॉलो किया है, या फिर अलग-अलग क्यों नहीं लिखा है। तब हम आपको बता दें कि गर्भावस्था के शुरुआत का तीन महीना आपके लिए काफी मुश्किल भरा होता है जहाँ आपको हर कदम पर सोच-समझ कर चलने की जरूरत होती है। क्योंकि, इस समय सबसे अधिक गर्भपात का खतरा रहता है, इसलिए आप इन दिनों अपने आहार को सख्ती से फॉलो करें। यदि आपका आहार शुरुआत से ठीक रहेगा तब आप और आपके बच्चे के विकास पर किसी तरह की कोई समस्या उत्पन्न नहीं होगी। इसलिए इस समय आपको अधिक विटामिन और खनिज, विशेष रूप से फॉलिक एसिड और आयरन की जरूरत पड़ती है।  

आपका शरीर

इन दिनों आपका शरीर बहुत थका-थका सा महसूस कर सकता है, क्योंकि इस समय आपके बॉडी में तेज़ी से हार्मोन में बदलाव होते हैं। ऐसे में, आपको आराम की जरूरत है। इसके अलावा, आपको बार-बार यूरिन पास करने जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है, जो कि बहुत ही आम है।

आपका डाइट

इस समय आप और आपके बच्चे के लिए कैल्शियम की बहुत ज्यादा जरूरत है, क्योंकि यह शिशु के हड्डियों और दातों के विकास में सहायक होता है।

  • इसके लिए आप पाने आहार में कैल्शियम युक्त आहार को शामिल करें जैसे कि- दूध, चीज़, दही या अंडा को शामिल करें।

  • इसके अलावा आप फल, हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, बथुआ, सरसों, मूली के पत्ते और सलाद को अपने भोजन में शामिल करें। इससे आपको कब्ज की समस्या नहीं होगी।

  • खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए आप पानी पीती रहें, इसके लिए आप फलों का जूस, नारियल पानी और नींबू-पानी आदि का सेवन कर सकती हैं।

  • इस महीने आप नाश्ते में अनाज, गेहूं का आटा, जई, कॉर्न फ्लैक्‍स, ब्रेड आदि खा सकती है। इसके अलावा, आप नट्स, विशेष रूप से अखरोट और बादाम जरूर खाएं।

चौथा महीना

आपका शरीर

इस महीने आप खुद के अंदर एनर्जी महसूस कर सकती हैं, और साथ ही आपको मतली और उल्टी की समस्या से भी राहत मिल सकती है। इसके अलावा, आप यह महसूस करेंगी कि आपके पेट का आकार बढ़ा हुआ है, जिससे कि आपको बहुत ही अच्छा फील होता है।  

आपका आहार

गर्भावस्था के दौरान, आपको अपने बॉडी में आयरन की मात्रा को भी बढ़ाना होगा।

  • इसके लिए आप इस महीने अपने आहार में आयरन युक्त आहार को जरूर शामिल करें, जिसे कि- साबुत अनाज ब्रेड, बीन्स, हरी-पत्तेदार सब्जियाँ (पालक, मूली के पत्ते और सलाद)

  • अगर आप मांसाहारी हैं तो हफ्ते में दो बार मांस, अंडे और मछली (सामन मछली, झींगे और मैकेरल) आदि लें।

  • इसके अलावा, ड्राई फ्रूट खासकर अंजीर, खुबानी और किशमिश, अखरोट और बादाम का सेवन जरूर करें।

पांचवां महीना

आपका शरीर

गर्भवस्था के पांचवें महीने आपके शरीर में बहुत सारे बदलाव देखने को मिल सकते हैं, जैसे कि कुछ बच्चे पांचवें महीने में भी किक करना शुरू कर देते हैं। इसके अलावा, आपके स्तन से पीले रंग का कुछ तरल पदार्थ निकल सकते हैं जिसे कोलेस्ट्रम कहते हैं। यानि कि आपका शरीर अब ब्रेस्टफीडिंग के लिए तैयार है।

आपका डाइट

प्रेगनेंसी के पांचवें महीने में आपको विटामिन सी की बहुत ज्यादा जरूरत होती है, इसलिए रोजाना अपने आहार में विटामिन सी युक्त आहार को शामिल करें।

  • इसके लिए आप अपने डाइट में  हरी सब्जियां जैसे पालक, ब्रोकोली, मेथी, सहजन की पत्तियां, गोभी, शिमला मिर्च, टमाटर, आंवला और मटर आदि को शामिल कर सकती हैं।

  • इसके अलावा, विटामिन सी के लिए संतरे, स्ट्रॉबेरी, चुकंदर, अंगूर, नींबू, टमाटर, आम और नींबू के पानी का सेवन भी बहुत फायदेमंद होगा।

  • स्‍नैक्‍स में आप भुना चना, उपमा, सब्जी इडली या पोहा ही ले सकती हैं जिसे आप आसानी से पचा सकती हैं।

  • साथ ही हाइड्रेटेड रहने की कोशिश करें, इसके लिए नारियल पानी, ताज़े फलों का रस, छाछ और पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

छठा महीना

आपका शरीर

इस महीने आपका शरीर दो से तीन किलो वजन प्राप्त कर सकता है। इसके अलावा, आपके पैरों में सूजन की समस्या भी देखने को मिल सकती है, इसके लिए आप आरामदायक चप्पल पहनने की कोशिश करें।

आपका डाइट

इस समय आपको अलग-अलग तरह के फ़ूड खाने का मन कर सकता है, और साथ ही किसी खाद्य पदार्थ की महक आपको अच्छी लग सकती है तो किसी की बुरी। इसलिए, आप पूरे दिन में थोड़े-थोड़े देर में कुछ खाती रहें। इस समय आपको बहुत अधिक ऊर्जा की जरूरत होती है।

  • इसके लिए आपको प्रोटीन युक्त आहार जैसे कि- लीन मीट, सफेद मछली, अंडे, ब्लैक बीन्स और टोफू का प्रयोग करें।

  • कार्बोहाइड्रेट फ़ूड के लिए आप आलू, स्वीट कॉर्न, सीड्स या नट्स और ओट्स का सेवन कर सकती हैं।  

  • हरी सब्जी में आप चुकंदर, गोभी, पालक, गाजर, कद्दू, शलजम, हरी सेम और टमाटर का सेवन कर सकती हैं।

  • फल में आप, केले, अंगूर, सेब और संतरे का सेवन कर सकती हैं।

सातवां महीना

आपका शरीर

इस महीने आप 4 से 5 पौंड वजन प्राप्त कर सकती हैं, इसके अलावा आप बहुत अधिक थका-थका महसूस कर सकती हैं। इसके लिए आप आराम करने की कोशिश करें।

आपका आहार

इस समय आपका आहार ऊर्जा से भरा हुआ होना चाहिए क्योंकि, आपका शिशु बाहर आने की तैयारी में जुटा होता है। ऐसे में, इन दिनों आपको आयरन और प्रोटीन युक्त फ़ूड का ज्यादा सेवन करना चाहिए ताकि आप एनीमिया के खतरे से बच सकें। इसके लिए आपको रोजाना 27 mg आयरन की जरूरत होती है।

  • इसके लिए आप पाने आहार में लाल मांस, सेम, चिकन, सीड्स और चावल का सेवन कर सकती हैं।

  • कैल्शियम युक्त आहार का सेवन करें जैसे कि दूध, दही, ओटमील और मछली का सेवन करें। क्योंकि, इन दिनों आपको रोजाना  1,000 mg कैल्शियम की जरूरत होती है।

  • गर्भावस्था से पहले और दौरान महिला को फॉलिक एसिड का सेवन करना चाहिए। इसके लिए आप पाने आहार में दलिया, हरी पत्तेदार सब्जियां, स्ट्रॉबेरी और नारंगी जैसे फलों का सेवन करें। क्योंकि आपको रोजाना लगभग 600-800 मिलीग्राम फॉलिक एसिड की जरूरत होती है।

आठवां महीना

इस महीने आपका वजन लगभग 3 से 4 पाउंड तक बढ़ सकता है। इसके अलावा, आपको बार-बार यूरिन पास, सीने में जलन, पीठ में दर्द और घबराहट जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।  

आपका आहार

इस महीने आपको विटामिन और मिनरल्स से भरपूर फ़ूड का सेवन करना चाहिए।

  • इसके लिए आपको अपने आहार में, लीन मीट, मछली, डेयरी प्रोडक्ट, हरी पत्तेदार सब्जियां, नट्स, अंडे, केला, ड्राई फ्रूट और एप्रीकॉट का सेवन करना चाहिए।

  • कार्बोहाईड्रेट फ़ूड के लिए आपको पाने आहार में, आलू, साबुत अनाज, अनाज, मीठे आलू और तरबूज को शामिल करना चाहिए।

  • फाइबर युक्त फ़ूड के लिए आपको अपने आहार में, मक्का,सफेद सेम,काले सेम, ब्राउन राइस, गोभी, ब्रोकोली और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करना चाहिए।

नौवां महीना

इस महीने में आपका शिशु अपने पोजीशन में आना शुरू कर देता है, यानि कि अब वह जन्म लेने के लिए तैयार है। साथ ही आपको बहुत अधिक मात्रा में यूरिन पास करने जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है।

आपका आहार

गर्भावस्‍था के इस समय आपको पौष्टिक आहार लेने की जरूरत होती है। क्योंकि, इस दौरान भ्रूण पूरी तरह तैयार हो चुका होता है। ऐसे में, पौष्टिक आहार जैसे, फल और सब्जियां बच्‍चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में मदद करती हैं।

  • मां को अपने बच्‍चे के लिए प्रचुर मात्रा में दूध की जरूरत होती है। तो, अपने भोजन में दाल की मात्रा बढ़ा दें।

  • इसके अलावा, खीरा, गाजर, मूली और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें।

साथ ही अब आप अपना सामान पैक कर लें क्योंकि, अब आप कभी भी प्रसव के लिए हॉस्पीटल जा सकती हैं।  

Feature Image Source: mumzonepregnancytips.com

loader