लेबर पेन को कम करने के इस तरीके को जान कर हैरान रह जाएंगी आप !

इन बेहतरीन तरीकों से लेबर पेन को करें कम | In behtareen tarikon se labour pain ko karen kam.

गर्भावस्था के नौ महीने पूरे होने के बाद जो अंतिम समय आता है वह है शिशु के जन्म का समय। जिस दौरान महिलाओं को असहनीय प्रसव पीड़ा से गुजरना पड़ता है। लेकिन, यदि महिलाएं कुछ बातों का ध्यान रखें तब इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। क्योंकि, इस दौरान आपको इतना दर्द होगा कि आपमें सोचने-समझने की शक्ति भी कमजोर पर जाती है, लेकिन इन सब के बावजूद आप अपने प्रसव पीड़ा को कम करने के लिए काफी कुछ कर सकती हैं, और यकींन मानिए इस से आपको काफी आराम मिलेगा।

मसाज के जरिए

लेबर पेन से राहत पाने के लिए आप मसाज को अपना सकती हैं, क्योंकि यह दर्द से छुटकारा पाने का बहुत अच्छा तरीका है। इससे आपको दर्द से बहुत आराम मिलेगा। इसके लिए आप अपने पेट पर आराम से हाथ की मालिस करें या घर के किसी सदस्यों को कहें। इस मसाज के द्वारा पेट या उसके आस-पास होने वाला दर्द कम हो जाता है।

सीधे खड़े रहें

जैसे ही आपको प्रसव पीड़ा शुरू हो, वैसे में आप अपने सही मुद्रा का चुनाव करें। क्योंकि,  आपके सीधे खड़े रहने से प्रसव में तेजी आती है और गुरुत्वाकर्षण बल आपके शिशु के जन्म को और आसान बनाता है। पीठ के बल लेटे रहने से आपका रक्त प्रवाह सीमित हो जाता है और आपके शिशु का जन्म हो पाना मुश्किल बना देता है। यह आपके पीठ के दर्द को भी और बढ़ा सकता है।

टहलें

टहलने से भी आपको प्रसव पीड़ा से राहत मिलेगी, क्योंकि यह स्थिति बहुत सही होती है तथा इसके कारण आपके बच्चे को गर्भाशय की ग्रीवा की ओर आने में सहायता मिलती है।

गर्म पानी से नहाएं

जिन महिलाओं को लेबर पेन रूक-रूक कर हो रहा हो उन्हें गरम पानी से नहाना चाहिए। क्योंकि, इससे प्रसव पीड़ा शुरू होने में मदद मिलती है। साथ ही आपको दर्द से आराम मिलेगा। हालाँकि, गर्म पानी में नहाने से पहले  ध्यान रखें कि पानी अधिक गर्म न हो। क्योंकि, इससे शिशु को तकलीफ हो सकती है।

बेहतर तरीके से सांस लें

अच्छे तरीके से सांस लेने से आपके शरीर को काफी ऊर्जा मिलती है। यह ऊर्जा आपको प्रसव से बेहतर तरीके से निपटने में मदद कर सकती हैं। इतना ही नहीं, इससे आपके शिशु को भी पर्याप्त ऑक्सीजन मिलती है, ताकि वह भी जन्म के तनाव का सामना बेहतर ढंग से कर सके।

एनर्जी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें

कुछ महिलाओं को प्रसव के दौरान बहुत अधिक भूख और प्यास लगती है। खासकर उन महिलाओं का जिनका लेबर पेन बहुत देर तक रहता है। इसलिए इस दौरान ऐसे खाद्य-पदार्थों का सेवन करें जिससे कि आपको बहुत अधिक ऊर्जा और एनर्जी मिल सके।

तरल पदार्थों का सेवन

यह सच है कि जब आपको बहुत अधिक लेबर पेन होता है तब आपका मुंह और गला सूखने लगता है जिससे कि आपको प्यास का अनुभव होता है। ऐसे में आप पानी या अन्य तरल पदार्थों का सेवन कर सकती हैं।

पोजीशन में बदलाव करें

जब भी आपको दर्द हो रहा हो तब आप एक ही अवस्था में लेटी न रहें, इससे आपको और भी अधिक दर्द का अनुभव हो सकता है। इसके लिए बेहतर है कि आप अपने पोजीशन में बदलाव करें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

तेल-मसाले वाले आहार से बचें

ज्यादातर महिलाएं गर्भवस्था के दौरान मसालेदार खाना खाना पसंद करती हैं। लेकिन, मसालेदार खाना भी आपके प्रसव पीड़ा को बढ़ा सकता है। हालाँकि इसका कोई प्रमाण नहीं है, लेकिन कुछ महिलाओं का मानना है कि तेल-मसाले युक्त आहार आपके गर्भाशयको उत्तेजित करता है।

इन सब के बावजूद जो सबसे अहम है वह यह है कि आप अपने पार्टनर के साथ बातें करें, इससे भी आपको काफी आराम मिलेगा। क्योंकि, इससे आपका दिमाग दर्द से थोड़ा भटक सकता है जिससे कि आपको आराम मिलेगा।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

Open in app
loader