लेबर के दौरान कैसे रहें शांत

लेबर के दौरान बहुत दर्द होता है और ऐंठन भी होती है। इस समय अगर आप ज्यादा सोचेगी या ध्यान देगी तो दर्द बहुत महसूस होगा।

यह महसूस करना बहुत जरुरी है कि बच्चे को जन्म देना, एक जटिल काम है। प्रसव के समय, महिलाएं परेशानी की वजह से झल्ला जाती हैं और उनका व्यवहार परिवर्तित हो जाता है। आप जल्दी ही संतान को जन्म देने वाली हैं और आपके लिए ये जानना बेहद जरुरी है कि आप प्रसव के दौरान शांत कैसे रहें। क्योंकि आपके लिए वो दर्द में होने वाली तड़प होती है लेकिन दूसरों को वो चीखना महसूस होता है।

प्रसव के दौरान गर्भवती महिला के व्यवहार से कई लोग जजमेंटल हो जाते हैं और उसे उतना ही जिद्दी और झगड़ालू मानने लगते हैं, जबकि ऐसा नहीं है। आप लोगों की परवाह न करें और खुद को जिस तरह सहज महसूस हो वही करें।

कई लोगों का मानना है कि प्रसव के दौरान महिलायों को अपने पार्टनर के साथ रहना चाहिए और उनसे बात करते रहना चाहिए, बात करते हुए सारी एनर्जी को पुश करने में लगा देना चाहिए। इससे नार्मल डिलीवरी होने में आसानी रहती है। हालाँकि कई अनुभवी औरतों का कहना है कि प्रसव के दौरान ज्यादा बात न करें और उस ऊर्जा को पेट में लगाएं ताकि बेबी का जन्म हो सके।

प्रसव के दौरान शांत रहने के लिए आप ध्यान लगा सकती हैं इससे आपके अंदर पॉजिटिव वाइब्रेशन्स आएगी और आपको ऊर्जा भी मिलेगी। साथ ही, आप नेचुरल डिलीवरी के लिए साँस जल्दी-जल्दी लेने और छोड़ने की प्रक्रिया को फॉलो करें ताकि सरलता से बेबी का जन्म हो जाये।

loader