क्यों होती है प्रेग्नेंसी में हाथों और पैरों में सूजन?

प्रेग्नेंसी के दौरान, शरीर में रक्त और अन्‍य तरल पदार्थों का संचार ज्‍यादा होता है, जो बच्‍चे के विकास में सहायक होता है। ज्यादा रक्त प्रवाह के कारण, शरीर के बहुत से टिश्यू में फ्लूइड इकठ्ठा होने लगते है और  गर्भाशय, शरीर की सबसे बड़ी नस, वेना कावा (ये शरीर के दाई तरह की सबसे बड़ी नस है, जो शरीर के निचले हिस्से से रक्त को वापस हृदय तक ले कर आती है) और पेल्विक वेन्स पर दबाव डालती हैं। जिस कारण आपके हाथों और पैरों में सूजन हो जाती है। इसे इडिमा कहा जाता है।

यह सूजन, अक्सर दिन के अंत में और गर्मियों में, ज्यादा होती है। प्रेग्नेंसी में, ऐसा होना, सामान्य है और इससे लेकर आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं। लेकिन अगर आपको यह सूजन अचानक से और  बहुत ज्यादा दिखें और चेहरे और आँखों के तरह भी सूजन हो तो यह लक्षण प्रीक्लेम्पसिया के हो सकते हैं। यह एक गम्भित स्थिति है और आपको तुरंत अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करनी चाहिए। अगर आपको अपने एक पैर में, दूसरे की तुलना में ज्यादा सूजन दिखे और अचानक से अपना वजन बहुत ज्यादा बढ़ा हुआ लगे तो तुरंत अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें।

सामान्य सूजन को रोकने के उपाए-

  • बहुत देर तक एक ही अवस्था में बैठे या खड़े होने से बचें
  • अपने पैरों को थोड़ा ऊपर सपोर्ट दे कर रखें
  • सोते समय बायीं करवट लें। (इससे वेना कावा पर कम दबाव पड़ता है)  
  • हल्के-फुल्के वर्कआउट करें, अगर आप चाहें तो थोड़ी देर चल-फिर भी सकती हैं।
  • खूब सारा पानी पिए। आप जितना ज्यादा पानी पियेंगी, शरीर में गन्दगी बाहर निकलेगी।
  • आरामदायक जूते पहनें
  • स्वस्थ खाना खाए और जितना जो सके जंक फ़ूड से दूर रहें।

loader