क्या प्रेगनेंसी में नहीं खाना चाहिए नॉनवेज?

नॉनवेज में, सब्जियों और फलों की तुलना में ज्यादा आयरन होता है। लेकिन ध्यान रहे कि, आप किस तरह के नॉनवेज का प्रयोग कर रही हैं। क्योंकि, नॉनवेज भी कई प्रकार का होता है और इनमें से कुछ प्रकार आपके होने वाले बच्चे को नुक्सान भी पहुंचा सकते हैं।

क्या कच्चे मांस का सेवन सुरक्षित है?

प्रेगनेंसी में रोजाना मीट का सेवन बिल्कुल सुरक्षित नहीं माना जाता, खासकर (हैम, तुर्की, सलामी और बोलगना) क्योंकि, ये सभी खाद्य पदार्थ बहुत गर्म होते हैं। इन खाद्य पदार्थों को विषाक्त भोजन भी कहा जाता है, जो लिस्टिरिओसिज़ का एक रूप हैं। इनके सेवन से आप और आपके बच्चे को नुकसान हो सकता है। हालाँकि, से पके हुए मीट से कोई नुक्सान नहीं होता और आपको इस बात का ख़ास ख्याल रखना होता है कि आप अधपका मांस न खाएं।   

सी फ़ूड

सी फ़ूड पोषक तत्वों का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है, क्योंकि इसमें ऐसे प्रोटीन, विटामिन, खनिज, और ओमेगा -3 फैटी एसिड होते हैं, जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य के विकास में मदद करते हैं।  

हालाँकि, मछली का उपयोग करते समय थोड़ी सावधानियां बरतने की जरूरत होती है, खासकर, मरकरी, डाइअॉॉक्सिन, पीसीबी, और कीटनाशक का चुनाव करते समय। क्योंकि, यह शिशु के विकास में बाधा उत्पन्न कर सकता है।

ऐसे में, यहाँ कुछ मछलियों की सूची दी गयी है, जिनमें ओमेगा-3 बहुत अधिक मात्रा में पाई जाती है। मछलियां जैसे- एनकोवि, हेरिंग, लेक व्हाइटफिश ( ग्रेट झील ), प्रकार की समुद्री मछली (अटलांटिक, जैक, चूब ), रेनबो ट्राउट, सलमान (जंगली या खेतों में पाया जानेवाला), सार्डिन और शाद (अमेरिकन) शामिल है।

वहीं, ज्यादातर विशेषज्ञों का यह भी मानना ​​है कि गर्भावस्था के दौरान, कच्ची मछली और शेलफिश से बचा जाना चाहिए क्योंकि, इसमें बैक्टीरिया मौजूद होता है, जो आपको बीमार कर सकता है।

क्या नॉन-आर्गेनिक का सेवन सही है?

ऐसे खाद्य-पदार्थ जिन्हें ऑर्गेनिक तरीके से नहीं उगाया गया है, लेकिन साथ ही इनपर अवशिष्ट कीटनाशकों की मात्रा भी नहीं होती, सुरक्षित होते हैं।  लेकिन, फिर भी हमेशा फल और सब्जियों को प्रयोग से पहले अच्छे से धो लेना चाहिए ताकि उनके उपर लगे बैक्टेरिया खत्म जाए। भले ही आप प्रेगनेंट हों या न हों लेकिन, इनको खाने से पहले धोना न भूलें क्योंकि, यह विषाक्तता को पैदा कर सकता है।

 

loader