क्या आप चाहती हैं कि प्रसव के दौरान आपके पति साथ हों ?

कुछ महिलाएं अपने प्रसव के समय यह चाहती हैं कि उनका पति उनके साथ हों। हालाँकि, ऐसा तब होगा जब आपके डॉक्टर इस बात की अनुमति देंगे, ऐसे में आप अपने डॉक्टर से विषय में बात कर लें। वैसे कुछ हॉस्पीटल में लेबर रूम में हसबैंड के आने की अनुमति होती है।

लेबर रूम में पति का होना बहुत मायने में फायदेमंद होता है, जैसे-

  • यदि आपके प्रसव के समय आपके पति साथ में होते हैं तो उस समय आप-दोनों का बॉन्डिंग और भी ज्यादा स्ट्रांग होता है। भले ही आपके पति ने आपके बच्चे को 9 महीने तक अपने पेट में न रखा हो, लेकिन इस वक़्त उनके साथ रहने भर से आपको बहुत हिम्मत मिलती है।  

  • उन्हें एक बेहतर पिता बनने में ये सारी चीजें उनकी मदद करती हैं। प्रसव के दौरान अपने बच्चे को देखकर उनका बच्चे के साथ एक अलग बॉन्डिंग होती है, जो आगे के रिश्ते को भी मजबूत बनाने में मदद करती है।  

 

  • प्रसव के समय कई बार ऐसा होता है, जब आपको लगता है कि आप इस दर्द को सहन कर सकती हैं, लेकिन एक समय ऐसा भी आता है जब दर्द की सीमा अपने चरम पर होती हैं, ऐसे में जब आपके हसबैंड आपको हौसला देते हैं, तब आपको बहुत अच्छा फील होता है।

  • खासकर दर्द के समय जब आपके पति यह कह कर आपको तसल्ली देते हैं या आपका माइंड डिस्ट्रैक्ट करते हैं कि बस हो गया, और कुछ ही देर में अपना बच्चा बाहर आ जाएगा। इस तरह का डिस्ट्रैक्शन आपको बहुत राहत प्रदान करता है।

हालाँकि, यह पल हर पेरेंट्स के लिए बहुत खास होता है। ऐसे में, प्रसव से पहले ही अपने डॉक्टर से इस बारे में बात कर लें कि लेबर रूम में आपके हसबैंड का रहना जरूरी है। क्योंकि, कुछ अस्पतालों में इसकी अनुमति नहीं दी जाती है। क्योंकि, डॉक्टर नहीं चाहते हैं कि किसी बहरी लोगों के आने से संक्रमण का खतरा बढ़ जाए, ऐसे में यदि आपके हसबैंड को अंदर आने की अनुमति मिलती है तो इन्फेक्शन को ध्यान में रख कर उन्हें अंदर भेजा जाता है। इसके अलावा, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वह जगह शांत होनी चहिए। ताकि गर्भवती महिला पर किसी तरह की कोई परेशानी न हो।

loader