कुछ इस तरह से संजोएं अपनी प्रेग्नेंसी की यादों को

प्रेग्नेंसी, हर एक महिला के लिए एक यात्रा की तरह होती है, जिसमें उसे अलग-अलग तरह के अनुभवों से गुजरना होता है। कभी वह अपने बच्चें के बारे में सोच कर, खुश हो जाती है, तो कभी डिलीवरी को लेकर चिंतित होने लगती है। यह पूरी यात्रा एक जादुई यात्रा की तरह लगती है, जिसमें चीजें बहुत जल्दी-जल्दी बदलती हैं। तो क्यों न इस यात्रा का एक रिकॉर्ड बना कर रखा जाए। इसके हर पल को यादगार बनाया जाए। यकीन मानिए जब आप इस रिकॉर्ड को बाद में उठा कर देखेंगी, तो आपको बहुत अच्छा लगेगा।

सिर्फ इतना ही नहीं इन्हें अपने बच्चे को भी दिखाएँ। यकीन मानिए उन्हें देख कर आपके बच्चे को भी बहुत अच्छा लगेगा। आप इन पलों को हैंडमेड स्क्रैप बुक में भी रख सकती हैं या कैमरें में भी कैद कर सकती हैं। यहाँ हम ऐसे कुछ तरीकों पर चर्चा कर रहें हैं, जिन्हें अपना कर आप अपनी प्रेगनेंसी की यादों को संजो कर रख सकती हैं।

जैसे-

    1. अपने बेबी के लिए लेटर/ईमेल लिखें
      अपने होने वाले बेबी के लिए, उसके जन्म से पहले, उसके लिए लेटर/ईमेल लिखें, इससे आपके बेबी और आपके बीच में अच्छी बॉन्डिंग बनती है।  
    2. स्क्रैप बुक
      स्क्रैप बुक बनाते समय- अपनी फोटो, अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट जैसी जीचों को इकट्ठा करें। आप स्क्रैप बुक में, प्रेग्नेंसी से सम्बंधित कुछ अच्छी बातें भी लिख सकती हैं।
    3. हर वीक की टी-शर्ट बनाए
      हर वीक की फोटो खींच कर, टी-शर्ट प्रिंट करें और उसे सभाल कर रखें।  
    4. वीडियो बनाएं  
      आपने होने वाले बेबी के लिए एक अच्छा सा मैसेज रिकॉर्ड करें। अगर आप चाहें तो अपनी फोटो, अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट, इन सभी के साथ रिकॉर्डिंग करें।  
    5. अपनी आवाज रिकॉर्ड करें
      आप अभी कैसा महसूस कर रही हैं, इस बारे में, अपनी बेबी के लिए मैसेज रिकॉर्ड करें।
    6. प्रेग्नेंसी का फोटशूट कराएं
      किसी अच्छे फोटोग्राफर से अपनी प्रेग्नेंसी की  फोटोशूट करवाए। इन सभी में आप, अपने पार्टनर को भी शामिल कर सकती हैं।
    7. अपने पेट को किसी साँचे में ढलवाए
      बेली कास्टिंग, में आपके पेट के आकार से ही एक साँचा बनाया जाता है, जो सूखने के बाद बिलकुल आपके पेट के ही जैसा लगता है। यह एक सुरक्षित तरीका है और इससे आपके होने वाले बच्चें पर कोई साइडइफ़ेक्ट नहीं होता।

loader