कुछ ऐसे फ़ूड, जो प्रेग्नेंट वुमन को करते हैं सबसे ज्यादा आकर्षित

बहुत सी महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान, फ़ूड क्रेविंग (खाने की लालसा) बहुत ज्यादा होती है। शायद ज्यादातर महिलाओं को यह जानकारी भी नहीं होगी कि ऐसा होता क्यों हैं। इस बात पर जहाँ कुछ लोगों का मानना है कि फ़ूड क्रेविंग की मुख्य वजह हार्मोन में परिवर्तन है। क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान, हार्मोन में परिवर्तन बहुत तेज़ी से होता है, जो आपके अंदर खाने की सुगंध और स्वाद को बढ़ा देता है।

हालाँकि, यह जरूरी नहीं है कि फ़ूड क्रेविंग के दौरान, हमेशा मीठा ही खाने का मन हो, बल्कि यह नमकीन, जंक फ़ूड या हेल्दी फ़ूड भी हो सकता है। यहाँ कुछ ऐसे ही खाद्य पदार्थों का जिक्र किया जा रहा है, जो अधिकतर महिलाओं को उनकी प्रेगनेंसी में आकर्षित करते हैं।

जैसे-

  • आइस- जी हाँ, बिल्कुल सही सुना आपने यह कोई खाने की चीज़ नहीं है, लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान महिलाएं बर्फ को बड़े चाव से चबाती हैं।
  • चॉकलेट्स- यह संभव है क्योंकि, चॉकलेट खाने से मन को खुशी मिलती है, इसलिए प्रेगनेंसी में महिलाएं चॉकलेट ज्यादा खाती हैं।
  • स्पाइसी फ़ूड- प्रेगनेंसी के दौरान, हमेशा कूल रहना चाहिए, और ऐसे में, मसालेदार खाने के बाद पसीना आने लगता है और इससे शरीर को ठंडक मिलती है।   
  • खट्टे पदार्थ- प्रेगनेंसी में महिलाओं को इमली, अचार और संतरे जैसे खाद्य पदार्थों के प्रति, खाने की लालसा अधिक होती है।
  • अचार- प्रेगनेंसी में महिलाओं को अचार खाने का मन इसलिए अधिक करता है क्योंकि, इस समय शरीर को अधिक सोडियम की जरूरत होती है।
  • आइस-क्रीम- क्रीमी, कुलिंग, फ्लेवर और जायके की एक बड़ी रेंज इसे खाने को अपनी और खिंचता है।
  • नींबू- यह प्रेगनेंसी में महिलाओं को होने वाली मतली से राहत देता है।
  • चिप्स- यह नमक से भरा होता है, जो आपके शरीर में सोडियम की कमी को पूरा करता है।   
  • फल- कुछ महिलाओं में प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज, अंगूर आदि जैसे फलों के प्रति लालसा होती है जो शिशु के लिए सही होता है।  
  • सोडा- यह कार्बोनेटेड पेय पदार्थ है, जिसके सेवन से मिचली में राहत मिलती है।
  • कॉफी- विशेष रूप से, यदि आप इसका नियमित रूप से गर्भावस्था से पूर्व सेवन किया हो।
  • कम्फर्ट फ़ूड- अचानक से आपको सदा दाल चावल खाने का मन कर सकता है, जैसा कि आपकी माँ ने आपको बचपन में खिलाया करती थी।

loader