कितना सही है गर्भावस्था के दौरान उपवास रखना ?

गर्भावस्था के दौरान व्रत रखना बहुत हद तक आपके बॉडी पर निर्भर करता है, क्योंकि जब आप अंदर से अच्छा महसूस कर रही हैं तब उपवास रखने में कोई परेशानी नहीं है। लेकिन, कुछ मामलों में डॉक्टर गर्भवती महिला को उपवास रखने की सलाह नहीं देते हैं, जैसे कि शरीर में खून की कमी, कमजोरी, उच्च रक्तचाप या फिर जेस्टेशनल डायबिटीज की स्थिति के रूप में। क्योंकि, इससे न केवल आपको बल्कि आपके गर्भ में पल रहे शिशु को भी नुकसान हो सकता है।

उपवास के दौरान होने वाली समस्या क्या है ?

  • शरीर में पानी की कमी

  • सिर दर्द

  • गैस की समस्या

  • कमजोरी और चक्कर आना

  • थका-थका सा महसूस होना।

उपवास का बच्चे के स्वास्थ्य पर प्रभाव

हालाँकि, कुछ मामलों में फास्टिंग माँ और बच्चे दोनों के लिए घातक हो सकता है। खासकर, जो महिलाएं बच्चे को स्तनपान कराती हों या फिर जिनके गर्भ में बच्चे का विकास हो रहा हो, वो भी गर्भावस्था के पहले चरण में। क्योंकि, इस समय आपके बच्चे का विकास पूर्ण रूप से आपके ऊपर निर्भर करता है। जैसे कि प्रोटीन, नुट्रिशन और विटामिन्स ये सभी पोषक तत्व आप से ही प्राप्त होते हैं। इसलिए गर्भवती महिलाओं को अपने पहले और तीसरे ट्राइमेस्टर के दौरान व्रत न करने की सलाह दी जाती है।

गर्भावस्था के दौरान उपवास के क्या प्रभाव हैं ?

गर्भावस्था के दौरान उपवास के कई अल्पावधि या दीर्घकालिक प्रभाव हो सकते हैं। कुछ महिलाएं खतरे को नज़रंदाज़ करते हुए उपवास रखती हैं। लेकिन, उन्हें यह नहीं पता होता है कि उपवास कभी-कभी समय से पहले भी बच्चे के जन्म का कारण हो सकता है। इतना ही नहीं शरीर में पानी की कमी आपके बच्चे को प्रभावित कर सकता है। क्योंकि, उपवास आपके भ्रूण के विकास में बाधा उत्पन्न कर सकता है। साथ ही, जन्म के समय बच्चे का कम वजन भी हो सकता है।

गर्भावस्था और उपवास से संबंधित टिप्स

यदि आपके लिए उपवास करना बहुत ही ज्यादा जरूरी है तो इसके लिए कुछ ऐसे टिप्स हैं जिसको फॉलो करना बहुत जरूरी है, जो नीचे दिए जा रहे हैं-

  • खूब सारे तरल पदार्थों का सेवन करें, ताकि आप खुद को हाइड्रेटेड रख सकें।

  • यदि आपके शरीर में खून की कमी है तब आपको आयरन युक्त फलों का सेवन करना चाहिए।

  • व्रत करने से पहले ढेर सारे हेल्दी फ़ूड का सेवन करें।

  • पूरे दिन खाना-पीना छोड़ने की जगह व्रत के दौरान फल का सेवन जरूर करें।

  • उपवास के दौरान जितना हो सके आराम करें, ताकि आपको थकान का अनुभव न हो।

  • गर्भवती महिलाएं व्रत के दौरान चाय, कॉफी का सेवन बहुत अधिक न करें।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

Feature Image Source

loader