किन 5 कारणों से होता है मिसकैरेज

इन बातों का रखें ध्यान नहीं होगा मिसकैरेज | In baton ka rakhen dhyan nahi hoga miscarriage

किसी भी महिला के लिए माँ बनना जितना सुखदायक होता है उतना ही मिसकैरेज होने पर दुःख। क्योंकि, इस दौरान अपने बच्चे को खोने का गम महिलाओं को सबसे अधिक होता है। आमतौर पर  मिसकैरेज की समस्या महिलाओं को गर्भावस्था के पहले तिमाही में होता है। यदि शिशु का विकास सही से नहीं होता, तो मिसकैरेज होने की संभावनाएं सबसे ज्यादा होती हैं। लेकिन, कुछ ऐसी बातें हैं जिसे ध्यान में रख कर आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

खुद का ध्यान रख कर

गर्भपात जैसी जटिलताओं से बचने के लिए सबसे जरूरी बात यह है कि महिलाएं खुद का ख्याल रखें ताकि इसके खतरे से बच सकें। क्योंकि, एक शोध में यह बात सामने आई हैं कि ज्यादातर महिलाओं का गर्भपात चोट लगने और गिरने के कारण हुआ है। ऐसे में, महिलाएं शुरूआती के कुछ महीने संभल कर चले और अपना ध्यान रखें।

इंफेक्शन का खतरा

महिलाओं में मिसकैरेज की समस्या संक्रमण के कारण भी उत्पन्न होती है। खासकर, यदि किसी महिला के प्रजनन अंगों में संक्रमण हो जाए तो इससे मिसकैरेज होने की सम्भावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। माइकोप्लाज्मा होमिनिस और यूरीप्लास्मा यूरीलीटिकम दो ऐसे बैक्टीरिया है जो गर्भवती महिलाओं के जननांग में संक्रमण पैदा करते हैं और इससे मिसकैरेज होने का खतरा बहुत ज्यादा होता है।

स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

यदि किसी महिला को प्रेगनेंसी से पहले किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हुई हों जैसे कि  मोटापा, डायबिटीज, थाइरोइड आदि से संबंधित बीमारी तो ऐसे में इनमें गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए यदि किसी महिला में इस तरह की समस्या हो तो लगातार डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए ताकि डॉक्टर आप पर निगरानी रख सकें।

हार्मोन असंतुलन

गर्भपात के लिए हार्मोन भी बहुत हद तक जिम्मेदार है, क्योंकि  महिलाओ में सेक्स हॉर्मोन के असंतुलन के कारण उनका मासिक धर्म और ओवुलेशन पीरियड असंतुलित हो जाता है। इसका असर उनकी गर्भाशय की लाइनिंग पर भी असर पड़ता है।

अधिक उम्र का होना

जिन महिलाओं की उम्र 35 साल या उस से अधिक की होती है ओ उनमें गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है।  

इसके अलावा, यदि किसी महिला में एक या उससे अधिक बार गर्भपात की समस्या हुई हो तो ऐसे में दुबारा मिसकैरेज होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को इस दौरान खुद का अच्छे से ख्याल रखना चाहिए।  

आपकी बिंदु– एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

Open in app
loader