इन 5 कारणों से होता है सबसे अधिक गर्भपात का खतरा

किसी भी महिला के लिए गर्भपात सबसे दर्दनाक होता है, जिसे सहन कर पाना किसी भी महिला के लिए काफी कठिन होता है। हालाँकि, यह न केवल आपको शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाती है बल्कि यह आपको मानसिक रूप से भी आघात करता है। लेकिन, क्या आपने कभी यह सोचा है कि किसी भी महिला में इस तरह की स्थिति कब और क्यों उत्पन्न होती है। क्योंकि, यदि किसी महिला में इस तरह की समस्या बार-बार हो रही हो तब उन्हें सबसे पहले इसके कारण का पता लगाना होगा, ताकि आगे इस तरह के खतरों से बचा जा सके।

गर्भपात के क्या कारण हैं ?

क्रोमोसोमल प्रॉब्लम

ज्यादातर मामलों में गर्भपात की समस्या माता-पिता दोनों में से किसी एक के कुछ क्रोमोसोमल असामान्यताओं के कारण होती है। क्योंकि, जब आपके जीन में कुछ बदलाव होते हैं तब यह समस्या उत्पन्न हो सकती है। इसके अलावा, कभी-कभी अंडे और शुक्राणुओं के गुणसूत्र सही से अपनी जगह सेट नहीं होते हैं। हालाँकि, देखा जाए तो तक़रीबन 75 प्रतिशत गर्भपात की समस्या गर्भावस्था के पहले ट्राइमेस्टर में होता है जबकि 15 से 20 प्रतिशत गर्भपात गर्भावस्था के दूसरे ट्राइमेस्टर में होता है।

स्वास्थय संबंधी समस्या होने पर

कुछ मामलों में, गर्भपात का सबसे बड़ा कारण आपकी स्वास्थ्य समस्याएं भी मानी जाती हैं जैसे कि- अधिक वजन, मधुमेह या थायराइड भी आपकी परेशानी को बढ़ा सकता है। इसके अलावा, गर्भाशय की कुछ असामान्यताएं भी गर्भपात होने की संभावना को बढ़ा देती  हैं । इसलिए, महिलाओं को अपने इन बातों का भी ध्यान रखना चाहिए ताकि इसके खतरों से बचा जा सके।

हार्मोन संबंधी समस्या

कभी-कभी किसी महिला का शरीर प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का पर्याप्त मात्रा में उत्पादन नहीं कर पाता है। क्योंकि, इस समय भ्रूण को समर्थन देने के अलावा, गर्भाशय के लाइनिंग और प्लेसेंटा को पकड़ने में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन की सबसे अधिक जरूरत होती है।

ख़राब जीवनशैली

महिलाओं में ख़राब जीवनशैली जैसे कि धूम्रपान, शराब का सेवन, दवा का प्रयोग या फिर अधिक मात्रा में कैफीन के प्रयोग से भी गर्भपात की संभावाना बढ़ जाती है। इसलिए, यदि गर्भवती महिला में इस तरह की आदतें मौजूद हैं तब उन्हें गर्भधारण करने से पहले ही छोड़ देना चाहिए।

अधिक उम्र

अधिक उम्र भी महिलाओं में इस तरह की समस्या को पैदा करता है। इसलिए डॉक्टर भी महिला को 30 साल तक की उम्र में गर्भधारण की सलाह देते हैं। क्योंकि, 30 के बाद इस तरह के जोखिम बढ़ जाते हैं।

गर्भपात के बाद कब गर्भधारण करना उचित समझा जाता है?

महिलाओं में इस बात को लेकर हमेशा डर रहता है कि गर्भपात के कितने दिनों गर्भधारण करना अच्छा होगा। हालाँकि, देखा जाये तो आप तीन महीने के भीतर दोबारा से गर्भधारण कर सकती हैं। इसके लिए सबसे जरूरी है कि आप तनाव मुक्त रहें और साथ ही अपने आहार में फॉलिक एसिड और अन्य स्वस्थ्य आहार को  में शामिल करें।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

Feature Image Source: telugu.boldsky.com

loader