हवाई यात्रा के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

वैसे तो हवाईज़हाज़ से सफ़र करना, अन्य साधनों की बजाय, काफी हद तक ज़्यादा सुरक्षित और आरामदायक भी समझा जाता है। लेकिन सफ़र करने से पहले आपको, यह पता कर लेना चाहिए कि जिस एयरलाइन से आप यात्रा करने वाली हैं, वह गर्भावस्था की किस अवस्था तक, लेडीज को यात्रा करने की अनुमति देते हैं, उसमें गर्भवती महिलाओं के लिए, मौजूदा सुविधाएं कैसी हैं और इमरजेंसी की हालत में, उनके पास क्या सुविधाएँ हैं।  

और सबसे जरुरी है कि हवाई यात्रा से पहले, अपने डॉक्टर से फिट टू फ्लाई सर्टिफिकेट लेना न भूलें।

बहुत सी एयरलाइन्स, 37 सप्ताह के बाद प्रेग्नेंट लेडीज को हवाई यात्रा करने की अनुमति नहीं देती। कुछ विशेष मामलों में, 37 से 38 सप्ताह के बीच में लेडीज को प्लेन से जाने की अनुमति मिल जाती है। लेकिन उन्हें, एयरपोर्ट मेडिकल डिपाटमेंट से मंजूरी के बाद ही यात्रा करने दिया जाता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान, आरामदायक हवाई यात्रा करने के लिए टिप्स-

  • हमेशा किनारे वाली सीट पर बैठें। इससे आपको, अंदर की सीट की तुलना में, पैरों को फैलाने के लिए ज्यादा जगह मिलती है। यहाँ बैठने पर आप, बिना अपने, सह-यात्रियों को परेशान किये बिना आराम से वाशरुम का प्रयोग कर सकती हैं।    
  • एयरपोर्ट पर सही समय पर पहुचें, ताकि आपके पास चेक इन और सिक्योरिटी चेकिंग के लिए पर्याप्त समय हो और आप आराम से प्लेन में बैठे सकें।
  • यात्रा के समय आरामदायक कपड़ें और जूतें पहनें। उबड़ खाबड़ रास्तें और ढ़चके से बचने के लिए, सीट बेल्ट को लगाए।
  • यात्रा के दौरान, अपने पास पर्याप्त स्नैक्स रखें। आप अपने साथ ड्राई फ्रूट्स, संतरा, सेब, सैंडविच, खाखरा, और नमकीन जैसी चीजें साथ में रख सकती हैं।
  • यात्रा के दौरान, पर्याप्त पानी पीती रहें।
  • टेक-ऑफ और लैंडिंग से पहले, वाशरूम का प्रयोग न करें। ताकि अगर कोई समस्या होती भी है, तो आप को चोट न लगें। इस समय, अपनी सीट छोड़ कर कही न जाए।

loader