गर्भावस्था में झाड़ू या पोछा लगाना कितना सही है ?

गर्भावस्था में हर कदम फूंक-फूंक कर रखना पड़ता है, ताकि माँ और बच्चे को किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। क्योंकि, आपकी थोड़ी सी गलती गर्भ में पल रहे शिशु के लिए खतरा पैदा कर सकता हैं। ऐसे में, यदि बात की जाए कि क्या इस समय गर्भवती महिला का झाड़ू या पोछा लगाना सुरक्षित है। इसके बारे में आप निचे बताए जा रहे बातों को ध्यान में रखें।

क्या गर्भावस्था में झाड़ू लगाना सही है ?

प्रेगनेंसी में झाड़ू लगाना सुरक्षित माना है, क्योंकि इस समय आप जितना एक्टिव रहेंगी उतना ही आपके लिए अच्छा माना जाता है। क्योंकि, झाड़ू लगाने से आपके बॉडी का एक्सरसाइज होता है जो आपके मांशपेशियों को लचीला बनाता है। लेकिन, कुछ परिस्थितियों में डॉक्टर आपको किसी भी तरह की कोई एक्टिविटी करने से मना करते हैं। जब आपमें कोई गर्भावस्था से सम्बंधित जटिलताएं हो। तब ऐसे में कोई भी काम या एक्टिविटी करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

लेकिन इसके अलावा जो चीज़ें हैं जिनका ध्यान गर्भवती महिला को जरूर रखनी चाहिए, जिनमें निम्न शामिल हैं-

बहुत अधिक एक्सरसाइज करना

– इस समय आप जरूरत से ज्यादा और भारी-भरकम एक्सरसाइज न करें। क्योंकि, यह न केवल आपको बल्कि गर्भ में पल रहे शिशु के लिए भी खतरा पैदा कर सकता है। लेकिन, झाड़ू या पोछा लगाना किसी भी सूरत में गलत नहीं है। लेकिन, यदि आपको धुल से एलर्जी है तब झाड़ू लगाने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

– यदि आप गर्भावस्था में झाड़ू या पोछा लगा भी रही हों तब इस बात का जरूर ध्यान रखें कि पोछा लगाने के लिए किसी भी केमिकल युक्त पदार्थों का प्रयोग न करें बल्कि आप पानी में नींबू, नीम, या नमक डालकर पोछा लगा सकती हैं। क्योंकि, ये चीज़ें आपके शिशु को नुकसान नहीं पहुंचा सकती हैं। लेकिन, कोई भी हार्ड स्मेल वाली चीज़ों से सफाई न करें क्योंकि इससे हो सकता है कि आप को उल्टी की समस्या होने लगे।

– इसके अलावा, इन दिनों ऊँचे चीज़ों की सफाई या फिर किसी भारी सामान को उठा कर इधर-उधर न करें। क्योंकि, इससे गर्भपात का खतरा हो सकता है, इसलिए इन चीज़ों को करने से जरूर बचें।

– एक्टिव रहना सही है, लेकिन जब आप जरूरत से ज्यादा अपने बॉडी को थकाती हैं तो इससे आपकी परेशानी बढ़ सकती है। खासकर, इस दौरान यदि आपमें रक्तस्राव, ऐंठन, थकान, मतली, चक्कर आना, शरीर के तापमान में अचानक परिवर्तन या फिर धुँधली दृष्टि जैसी कोई समस्या उत्पन्न हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि, इस तरह के लक्षण गर्भवस्था में अच्छे नहीं माने जाते हैं।

– इसके अलावा, जो सबसे महत्वपूर्ण बातें हैं वह यह हैं कि गर्भवावस्था में महिलाएं उन चीज़ों को साफ करने से बचें जिससे कि आपको संक्रमण होने का खतरा रहता है। जैसे कि बिल्ली, चूहे या फिर कुत्ते की पॉटी को। क्योंकि, बिल्ली के मल में टोक्सोप्लासमोसिज़ सक्रमण पैदा करता है। यदि आप गर्भावस्था के दौरान इसकी चपेट में आती हैं, तो आपके गर्भस्थ शिशु के लिए यह खतरा पैदा कर सकता है।

Feature Image Source: cafemomstatic.com

loader