गर्भावस्था के दौरान पेट में खुजली की समस्या, और इससे निपटने के उपाय

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में बहुत सारे बदलाव देखने को मिलते हैं, जिनमें एक समस्या खुजली की भी है। हालाँकि, इन दिनों खुजली की समस्या बेहद आम बात है, जिससे हर महिलाओं को गुजरना पड़ता है। आमतौर पर गर्भवती महिलाओं में यह समस्या तब उत्पन्न होती है जब उनका शरीर बढ़ता हैं,  तो ऐसे में स्किन खिंचने लगती है। जिससे कि शरीर में खुजली की समस्या होने लगती हैं।

क्यों होती है यह समस्या ?

जैसा कि ऊपर भी बताया गया है कि बच्चे के विकास के साथ पेट की त्वचा में खिंचाव होता है, जिस से त्वचा की सतह के नीचे पाए जाने वाले इलास्टिक फाइबर टूट जाता है। जिसके कारण खुजली और स्ट्रैच मार्क्स की समस्या उत्पन्न होने लगती है। सामान्यतः गर्भावस्था में जिन महिलाओं का वजन अधिक बढ़ जाता है उनमें यह समस्या अधिक होती है। पेट के अलावा, यह समस्या ब्रैस्ट और जांघों पर देखने को मिल सकती है।

इससे बचने के क्या उपाय हैं ?

गर्भावस्था में खुजली की समस्या से बचने के लिए आप निम्न तरीकों को अपना सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

नारियल तेल

अगर आपको बहुत अधिक खुजली की समस्या उत्पन्न हो रही हो तब आप नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। इसके लिए गर्भवती महिला  खुजली वाले जगह पर रुई के सहारे तेल लगा सकती हैं। हालाँकि, जब भी आप अपने शरीर पर तेल लगाती हैं, तो सुनिश्चित करें कि ऐसे तेल का इस्तेमाल करें जिसमें लिनोलेइक एसिड की मात्रा काफी ज्यादा हो। ओलेइक एसिड से भरपूर तेल जैसे कि सरसों का तेल या जैतून का तेल (आॅलिव आॅयल) आपकी त्वचा को रुखा बना सकते हैं।

ऐलोवेरा जेल

ऐलोवेरा जेल भी खुजली की समस्या से राहत दिलाने का काम करती है। इसके लिए आप इसके गूदे को निकाल लें और खुजली वाले जगहों पर लगाएं और कुछ देर बाद ठंडे पानी से धुल दें। ऐसा करने से खुजली की समस्या से राहत मिलती है।

गुनगुने पानी से नहाएं

ज्यादा गर्म पानी में नहाने के बजाए हल्के गुनगुने पानी से नहाएं। साथ ही, अधिक सुगंध वाले उत्पादों का इस्तेमाल न करें। ये आपकी त्वचा को शुष्क या असहज बना सकती हैं और इनसे खुजलाहट ज्यादा बढ़ सकती है। रुखी, बिगड़ी हुई या असहज त्वचा पर बॉडी ब्रश या लूफा का इस्तेमाल न करें।

पेट्रोलियम जैली

खुजली से निजात पाने के पेट्रोलियम जैली भी एक अच्छा विकल्प है। यह बहुत ही सूदिंग होता हैं जिसे लगाने से खुजली से आराम तो मिलता ही है साथ में आपकी त्वचा को भी मुलायम रखता हैं।

मॉश्‍चराइजर लगाएं

पेट वाले हिस्‍से में मॉश्‍चराइजर लगाना न भूलें। आप चाहें तो किसी प्रकार का तेल भी लगा सकती हैं। इससे त्‍वचा में मॉश्‍चर बना रहता है और खुजली नहीं होती है।

हल्दी एवं सरसों तेल का लेप लगाये

खुजली की समस्या से निजात पाने के लिए गर्भवती महिला हल्दी एवं सरसों तेल से बने लेप को लगायें। क्योंकि हल्दी को एन्टीसेफ्टिक और एंटीबॉयटिक के लिए सबसे अच्छा माना जाता हैं और सरसों के तेल से संक्रमण खत्म करने की अधिक शक्ति होती हैं इसे लगाने से खुजली से छुटकारा पा सकते हैं।

कैलामाइन लोशन

प्रेगनेंसी में खुजली से राहत के लिए अक्सर कैलामाइन लोशन लगाया जाता है। इसके प्रभाव को लेकर बहुत ज्यादा प्रमाण नहीं हैं। बहरहाल, गर्भावस्था में इसका इस्तेमाल सुरक्षित है और इससे आपको आराम भी मिल सकता है।

उचित आहार

विटामिन सी, विटामिन ई, बीटा कैरोटीन और जिंक से भरपूर आहार लें। ये विटामिन आपकी त्वचा के लिए अच्छे हैं और इसे नरम व कोमल बनाए रखने में मदद करते हैं।

खूब पानी पिएं

त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एक दिन में आठ से 12 गिलास पानी पीएं, इससे त्वचा में नमी बनी रहेगी।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader