गर्भावस्था में इन 4 तरीकों से करें अपने ब्लड प्रेशर को कंट्रोल

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं में ब्लड प्रेशर की समस्या बहुत आम बात है। साथ ही यह समस्या प्रसव के बाद खुद ब खुद चली जाती है। हालांकि, यदि प्रेगनेंसी में ब्लड प्रेशर के साथ- साथ आपके हाथों-पैरों में सूजन, पेशाब में प्रोटीन आदि की समस्या है, तो यह सीधे तौर पर प्री-क्लैम्पसिया के लक्षण हो सकते हैं। यदि इसका सही समय पर उपचार न किया जाए तो यह माँ और शिशु दोनों के लिए खतरा पैदा कर सकता है। शायद आपको पता होगा कि प्री-क्लैम्पसिया गर्भावस्था के 20 वें हफ्ते में शुरू होती है।

लेकिन, यदि ब्लड प्रेशर को समय रहते कंट्रोल किया जाए तो इस तरह की समस्या उत्पन्न नहीं होती है, ऐसे में निचे कुछ तरीके बताए जा रहे हैं, जिसके जरिए इसको कंट्रोल किया जा सकता है, जिनमें निम्न शामिल हैं-

तरल पदार्थों का सेवन

गर्भवती महिलाओं को जितना हो सके तरल पदार्थों का सेवन किया जाना चहिये, इसके लिए आप जूस, सूप और जितना हो सके पानी का सेवन करें। क्योंकि, इस समय बीपी को कंट्रोल करने का यह एक बेहतर तरीका है।

कम मात्रा में नमक

गर्भावस्था के दौरान यदि आपमें ब्लड प्रेशर की समस्या है तो इस दौरान अपने आहार में जितना हो सके कम मात्रा में नमक का सेवन करें। क्योंकि, ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए नमक का सेवन सिमित मात्रा में किया जाना चाहिए।  

हरी पत्तेदार सब्जियां

इस दौरान, गर्भवती महिलाएं अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों को जरूर शामिल करें। खासकर- पालक, गाजर आदि को क्योंकि यह आपके बीपी को कंट्रोल करने में मदद करता है।

नियमित व्यायाम करें

यदि किसी गर्भवती महिला में ब्लड प्रेशर की समस्या है तो इस दौरान उन्हें नियमित रूप से व्यायाम किया जाना चाहिए। हालाँकि, इस दौरान आप स्विमिंग या टहल सकती हैं, या फिर कोई हल्का-फुल्का सा योग और प्राणायाम कर सकती हैं। लेकिन, कोई भी एक्सरसाइज करने से पहले आप डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/communityपर भेज सकते हैं।

loader