इन 5 कारणों से होती है प्रेगनेंसी में ब्लीडिंग की समस्या

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसमें एक है गर्भावस्था के दौरान ब्लीडिंग की समस्या है, जो कुछ महिलाओं में देखी जाती हैं। हालाँकि, कुछ महिलाओं में इस तरह की समस्या बेहद आम बात है, लेकिन जब यह समस्या लगातार हो रही हो तब यह खतरे का संकेत हो सकती है। ऐसे में इस तरह की समस्या उत्पन्न होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

आमतौर पर, गर्भावस्था के शुरुआत में ब्लीडिंग की समस्या निम्न कारणों से हो सकती हैं, जो निम्न हैं-

गर्भपात का संकेत

गर्भावस्था के दौरान पहली तिमाही में रक्तस्राव का होना सामान्य होता है, लेकिन जब यह असामान्य रूप से हो रहा हो तब यह गर्भपात का संकेत हो सकता है। इसलिए इस तरह की स्थिति को हल्के में न लें और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

योनि में संक्रमण

गर्भावस्था के दौरान रक्तस्त्राव की समस्या योनि में संक्रमण जैसे कि यीस्ट संक्रमण या बैक्टीरियल वेजिनोसिस के कारण हो सकता है।

एक्‍टोपिक प्रेग्‍नेंसी

ऐसा तब होता है जब भ्रूण का विकास गर्भ के बजाय फेलोपियन ट्यूब में ही होना शुरू हो जाता है, खासकर फेलोपियन ट्यूब में। इससे आपको हल्‍की सी ब्‍लीडिंग और भयानक दर्द हो सकता है। इस तरह की समस्या को हल्के में भूल कर भी न लें क्योंकि, यह मेडीकल इमरजेंसी कंडीशन होती है जिसमें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत होती है।

सेक्स करने से

प्रेग्नेंसी के दौरान, गर्भाशय ग्रीवा (सर्विक्स) बहुत नाजुक हो जाती है और उसमें रक्त का बहाव तेज हो जाता है। ऐसे में सेक्स करने से भी कभी-कभी ब्लीडिंग की समस्या उत्पन्न होती है।

मोलर प्रेगनेंसी

यह स्थिति तब उत्पन्न होती है जब जब गर्भ के अंदर असामान्य उत्तकों का विकास हो जाता है। जिसके कारण, भ्रूण का विकसित होना या बचना असंभव हो जाता है।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

loader