अपने बेबी को कैफीन से नुक्सान न पहुंचाएं

प्रेगनेंसी में, कैफीन का ज्यादा सेवन हो सकता है नुकसानदायक   

अगर आप कम मात्रा में कोक, कॉफ़ी  या चाय पीती हैं, तो इससे, बेबी को कोई नुक्सान नहीं होगा। लेकिन अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान, ज्यादा मात्रा में कोक, कॉफ़ी  या चाय लेंगी तो इससे माँ और बच्चें दोनों को ख़तरा हो सकता है। विशेषज्ञों का यह सुझाव है कि गर्भवती महिलाओं को एक दिन में 200 मिलीग्राम से अधिक कैफीन नहीं लेना चाहिए। यह मात्रा, इंस्टेंट कॉफ़ी की 2 कप्स, 4 कप्स चाय और कोला के 5 कैन के बराबर है।  

अपने बेबी को कैफीन से नुक्सान न पहुंचाएं  

वास्तव में, यह सुनिशित करना थोड़ा मुश्किल है कि प्रेग्नेंसी में कितना कैफीन लेना सुरक्षित है। कुछ अध्ययनों से यह पता चला है कि 200 मिलीग्राम से ज्यादा मात्रा में कैफीन लेने से, जन्म के दौरान बेबी का वजन कम होना, मिसकैरेज और बर्थ डिफेक्टस जैसे क्लेफ्ट पैलेट होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

कैफीन का प्रेग्नेंट लेडी की हेल्थ पर असर

कैफीन एक उत्तेजक पदार्थ है। इसके सेवन से आपकी हृदय गति और चयापचय (मेटाबोलिज्म) बढ़ जाता है, जिससे आपके गर्भ में पल रहे बच्चें पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

इससे न केवल आपके बेबी पर बुरा प्रभाव पड़ता है, बल्कि आपकी सेहत पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है। बहुत ज्यादा कॉफ़ी पीने से नींद न आना, घबराहट, और सिर दर्द जैसी समस्या हो सकती है। यह एक डाईयूरेटिक भी है, जिससे शरीर में पानी और अन्य तरल पदार्थों की कमी हो जाती है। कॉफी के सेवन से शरीर में कैल्शियम की मात्रा भी कम हो सकती है। इसके अलावा, अगर आप खाना खाने के एक घंटे पहले या बाद में चाय पीती हैं तो इससे शरीर,  आयरन को अवशोषित नहीं कर पाता और शरीर में आयरन की भी कमी हो सकती है। इसलिए हर प्रेग्नेंट लेडीज को यह पता होना चाहिए कि कैफीन की कितनी मात्रा लेना, उसके लिए सुरक्षित है, ताकि वह इन सभी बातों का ध्यान रखें और भविष्य में होने वाली अनहोनी हो टाल सकें।   

 

loader