अपने एचआर से मैटर्निटी लीव के बारे में कैसे बात करें?

कामकाजी महिलाओं के लिए गर्भधारण करना किसी चुनौती से कम नहीं होता, क्‍योंकि इस दौरान, महिला को घर, ऑफिस के अलावा होने वाले बच्चे के बारे में भी सोचना पड़ता है। साथ ही अगर बात मैटर्निटी लीव की हो तब यह और भी जरूरी हो जाता है। क्योंकि, सबसे बड़ी उलझन यह होती है कि आप अपने एचआर से छुट्टी के लिए बात कैसे करें। हालाँकि, अधिकतर महिलाएं महिलाओं को तीन महीने की मैटरनिटी लीव मिल जाती है। वहीं कुछ कम्पनियाँ इसके लिए तैयार नहीं होती।

अपने सहकर्मियों को अपनी प्रेगनेंसी के बारे में खबर देने से पहले, अपने एचआर से बात करें क्योंकि, यह खबर पहले सह-कर्मियों तक पहुंचना शायद आपके लिए सही न हो।   

इसके अलावा इन सभी सारी बातों पर चर्चा करने के बाद, आप एचआर से अपने लीव और बेनिफिट्स के बारे में भी बात करें। ऐसे में यहाँ कुछ दिशा-निर्देश दिए जा रहें हैें, जो आपकी मैटर्निटी लीव लेने से पहले काम आ सकते हैं, वह निम्न हैं-

  • सुविधाजनक समय पर ही इस बारे में बात करें।  
  • अपने एचआर से मैटर्निटी लीव के लाभ को साझा करने का अनुरोध करें। इसके अलावा यह भी जानने की कोशिश करें कि, कितने दिनों तक आपको पे लीव आपको मिल सकती है।
  • मैटरनिटी लीव पर बात करने को लेकर एक दम साफ़ रहें और जो भी सवाल मन में हों साफ-साफ पूछें।
  • मैटर्निटी लीव के बारे में बात करने के बाद, इस बात की भी पुष्टि कर लें कि, क्या आप इस कंपनी के लिए आगे भी काम कर सकती हैं।  
  • इसके अलावा इस बात के बारे में भी पूछें कि, क्या मेरे लिए हुए मैटर्निटी लीव, मेरे बोनस और प्रमोशन को भी प्रभावित कर सकता है।
  • इस बात के बारे में भी पूछें कि, मेरे द्वारा लिए गए व्यक्तिगत छुट्टी, सिक लीव इत्यादि को मैटर्निटी लीव के साथ जोड़ा जाएगा।
  • अपने एचआर से यह भी पूछें कि मैटर्निटी लीव लेने के पहले मुझे कौन से डॉक्यूमेंट सबमिट और तैयार करने होंगें।  
  • क्या मेरे नहीं होने  से कंपनी को कोई नुकसान तो नहीं होगा इस बारे में भी खुलकर चर्चा करें।

 

इसके अलावा अपने एचआर को  इस बात का भी यकीन दिलाएं कि, मेरी किसी भी वक़्त जरूरत होगी तो मैं मदद के लिए तैयार हूँ।

 

loader