37 वें हफ्ते में आपका शरीर

इस हफ्ते में प्रसव किसी भी समय हो सकता है, लेकिन बच्चे के आने का उचित समय किसी को पता नहीं होता है। लेकिन, एक डॉक्टर ही हैं जिन्हें यह पता होता है कि इस हफ्ते में बच्चे कब पैदा होगा। ऐसे में, आपके लिए यह बेहतर होगा कि आप इस हफ्ते अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। क्योंकि डॉक्टर आपके गर्भाशय ग्रीवा (सर्विक्स) का मूल्यांकन करते हैं कि इसका मुँह 10 सीएमएस तक खुला है या नहीं। इस बात से डॉक्टर बच्चे के आने का पता लगाते हैं कि वह किस वक़्त पैदा हो सकता है। इसके अलावा, डॉक्टर आपके श्रोणि क्षेत्र में बच्चे की स्थिति का आकलन करते हैं कि बच्चे का पोजीशन क्या है।

हालाँकि, इस हफ्ते में आने के बाद आपका वजन बढ़ना अब बंद हो जाएगा। क्योंकि, थर्ड ट्राइमेस्टर तक किसी भी गर्भवती महिला का वजन 11.5 से 13.5 किलो तक बढ़ सकता है, उसके बाद वजन का बढ़ना बंद हो जाता है। कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं जो प्रेगनेंसी के समय उतना वजन गेन नहीं करती हैं ऐसे में घबराने की कोई जरूरत नहीं है। इसके अलावा, गर्भवती महिलाओं को इस वक़्त अपने स्ट्रेच मार्क पर तेल की मालिश करनी चाहिए, और साथ ही कुछ हल्के-फुल्के स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करनी चाहिए ताकि डिलीवरी के वक़्त मदद मिल सके। इतना ही नहीं इस वक़्त जितना हो सके आप आराम करें, क्योंकि इस वक़्त आपको आराम की बहुत ज्यादा जरूरत है। आमतौर पर, इस वक़्त महिलाओं में हार्टबर्न और अपच जैसी समस्या देखने को मिल सकती है, ऐसे में इस समस्या से राहत पाने के लिए आप गुनगुने दूध में शहद डाल कर पी सकती हैं इससे आपको काफी आराम मिलेगा।  

loader