ये 6 लक्षण को देखते ही अपने अंदर तुरंत पकड़ें किडनी की बीमारी को

किडनी की समस्या किसी भी व्यक्ति को हो सकती है, लेकिन यदि इसका सही समय पर पहचान नहीं किया गया तब यह आपके शरीर के लिए घातक हो सकता है। हालाँकि, थोड़ा सा ध्यान रख कर लोग किडनी की बीमारी को तुरंत पहचान सकता है। ऐसे में, निचे कुछ संकेत बताए जा रहें हैं जिसको ध्यान में रख कर आप किडनी की समस्या को पहचान सकती हैं, और जल्द से जल्द अपना इलाज करवा सकती हैं।

किडनी खराबी के शुरुआती लक्षण क्या हैं ?

किडनी खराबी के शुरुआती लक्षण निम्न हैं, जिसे ध्यान में रखा जाना चाहिए-

यूरिन संबंधी समस्या

किडनी खराबी का सबसे पहला लक्षण यूरिन संबंधी समस्या है, जिसमें आपको बार-बार यूरिन पास करने से लेकर यूरिन के दौरान दर्द और जलन जैसी समस्या देखने को मिल सकती है। इतना ही नहीं जब आपको किडनी से संबंधित कोई भी समस्या हो तब आपके यूरिन में ब्लड या फिर झाग दिखाई दे सकती है। ऐसे में, इस तरह की समस्या नज़र आते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि, यह आपके लिए परेशानी उत्पन्न कर सकता है।

त्वचा का ड्राई होना

जब किसी व्यक्ति में किडनी से संबंधित कोई समस्या होती है, तब आपके स्किन न केवल ड्राई होते हैं बल्कि उसमें खुजली की समस्या भी उत्पन्न होने लगती है। क्योंकि, का मुख्य काम आपके शरीर से अपशिष्ट पदार्थ और अतिरिक्त तरल पदार्थ को हटाने का होता है। साथ ही यह आपके शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में भी मदद करता है। ऐसे में, यदि किडनी सही से काम नहीं करता है तब इस तरह की समस्या उत्पन्न होती है।

आँखों के आस-पास सूजन

यूरिन में प्रोटीन की मात्रा का मौजूद होना एक प्रारंभिक संकेत माना जाता है। जिसका साफ मतलब होता है कि किडनी फिल्टर करने में सक्षम नहीं है। जिसके कारण आपको बार-बार यूरिन पास करने जैसी समस्या उत्पन्न होती है। ऐसे में, आँखों के आस-पास सूजन इस बात को दर्शाता है कि आपके यूरिन में प्रोटीन की बहुत अधिक मात्रा मौजूद है। ऐसे में, यदि आपके आँखों के आस-पास इस तरह की कोई भी समस्या नज़र आए तब आप अपने यूरिन में प्रोटीन की मात्रा की टेस्ट करवा सकती हैं।

शरीर में सूजन

किडनी का काम आपके शरीर से गंदे और अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालने का होता है। लेकिन, जब किडनी यह काम अच्छे से नहीं करता है तब आपके शरीर के विभिन्न हिस्सों में सूजन की समस्या देखने को मिल सकती है। हालाँकि, किडनी का अच्छे से काम न करने के कारण आपके बॉडी में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है, जिससे कि आपके पैर और टखनों में सूजन हो सकती है। इसके अलावा, शरीर के निचले हिस्सों में सूजन हृदय रोग, लीवर की बीमारी या फिर नसों की समस्याएं भी हो सकती हैं।

भूख की कमी

यह एक बहुत ही सामान्य लक्षण है, क्योंकि जब आपको किडनी से संबंधित कोई भी समस्या होती है तब आपको भूख न लगने जैसी परेशानी हो सकती है।

हमेशा थका-थका सा महसूस होना

जब आपके बॉडी में किडनी की समस्या होती है तब किडनी ऐथ्रोप्रोटीन नामक प्रोटीन को निकाल पाने में सक्षम नहीं होता है। जिसके कारण आपके शरीर में खून की कमी उत्पन्न होने लगती है, जिससे कि हार्मोन का लेवल कम होने लगता है। शायद यही कारण है कि बॉडी में कमजोरी के साथ-साथ थकान का अनुभव होता है।

किडनी की समस्या से बचने के क्या उपाय हैं ?

आप निम्न बातों को ध्यान में रख कर इस समस्या से बच सकते हैं, जो निम्न हैं-

– पूरे दिन कम से से 3 से 4 लीटर पानी का सेवन करें, ताकि किडनी में संक्रमण होने का ख़तरा न रहे।

– धूम्रपान का सेवन न करें, क्योंकि जब आप धूम्रपान का सेवन करते हैं तब आपके रक्त नलिकाओं में रक्त का बहाव धीमा पड़ जाता है। जिसके कारण किडनी में रक्त कम जाने से उसकी कार्यक्षमता घट जाती है। इसलिए धूम्रपान और तंबाकू का सेवन भूलकर बह न करें।

– बहुत देर तक यूरिन को रोक कर न रखें, क्योंकि जब आप बहुत देर तक यूरिन को रोके रखते हैं तब आपके किडनी पर दवाब बढ़ने लगता है जिससे कि किडनी खराबी की समस्या उत्पन्न होने लगती है।

– बहुत अधिक मात्रा में किसी भी प्रकार के दवाओं का सेवन न करें, खासकर बिना डॉक्टर की सलाह के। क्योंकि, पेनकिलर दवाएं सीधे तौर पर आपके किडनी को प्रभवित करता है।

आमतौर पर किडनी की बीमारी का पता लंबे समय बाद चलता है, इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहते हैं। ऐसे में, ऊपर बताए गए लक्षणों को ध्यान में रख कर आप इसका पता आसानी से लगा सकती हैं।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल! एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल https://zenparent.in/community पर भेज सकते हैं।

Feature Image Source: www.verywell.com

loader