ठंड के मौसम में बच्चों को होने वाली 4 बीमारियाँ

ठंड के दस्तक देते ही यदि कोई सबसे ज्यादा दुखी होता है, तो वो हैं पेरेंट्स। क्योंकि, उन्हें इस मौसम में सबसे ज्यादा खतरा अपने बच्चों में घर करने वाली बिमारियों का रहता है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि बच्चे अपनी तकलीफ किसी से शेयर नहीं कर पाते हैं। ऐसे में, पेरेंट्स को उस बात का जरूर ध्यान रखना चाहिए कि इस मौसम में कौन सी बीमारियाँ हैं जो बच्चे के लिए खतरा पैदा कर सकता है, जिनमें निम्न शामिल हैं-

निमोनिया

निमोनिया बच्चों में होने वाली सबसे आम बीमारी है, जो ज्यादातर ठंड के मौसम में होती है। हालांकि, इस दौरान बच्चों को तेज बुखार के साथ-साथ पूरा शरीर बहुत गर्म रहता है। इतना ही नहीं, इससे कभी-कभी बच्चे के लंग्स में इंफेक्शन होने का खतरा भी रहता है।

साँस की समस्या

ठंड के मौसम में बच्चों को सांस संबंधी समस्या भी उत्पन्न हो जाती है। जिसके कारण बच्चे को बंद नाक, गले में जकड़न के साथ साथ नाक और आंख से पानी निकलना भी शामिल है। इस तरह की समस्या उत्पन्न होने के कारण बच्चे को साँस लेने में कठिनाई उत्पन्न होने लगती है।

दस्त और उल्टी

ठंड के मौसम में, जो बीमारी बच्चों में सबसे अधिक देखने को मिलती है वह है बुखार के साथ-साथ दस्त और उल्टी की समस्या। इतना ही नहीं दस्त और उल्टी के कारण बच्चे के शरीर में पानी की कमी हो जाती है। जिससे बच्चे को न केवल तकलीफ होती है बल्कि वह शारीरिक रूप से कमजोर भी हो जाते हैं।

आँखों का चिपकना

ठंड के कारण, बच्चों के आँखों में इंफेक्शन होने का खतरा रहता है, इससे बच्चे के आंखों की पलकें सोने के दौरान चिपक जाती हैं, जिससे कि उन्हें खोलने और देखने में परेशानी होती है।

ऐसे में, एक पेरेंट्स होने के नाते आप इस बात का बखूबी ध्यान रखें कि बच्चों को सर्द हवाओं से बचा कर रखें। इतना ही बच्चे इस मौसम में सुसु बहुत ज्यादा करते हैं, इस दौरान आप उनके नैपी बदलते रहें जिससे कि उन्हें ठंड का अहसास न हो।

loader