सोते हुए बच्चों के सामने सेक्स करना कितना सही ?

आमतौर पर बच्चे के पैदा होने पर हसबैंड-वाइफ को उतना समय एक दूसरे के लिए नहीं मिल पाता है, जिसके कारण कभी-कभी ये लोग कुछ ऐसा कर जाते हैं जो कि बिल्कुल गलत है। और वह है सोते हुए बच्चों के सामने सेक्स करना, क्योंकि बच्‍चा होने के बाद उनकी सेक्‍स लाइफ को ब्रेक सा लग जाता है। उनके सेक्‍स एंड रिलेशनशिप पर बच्‍चे के बाद काफी असर पड़ता है। लेकिन, ऐसे में कपल्स को यह गलती नहीं करनी चाहिए, क्योंकि जाहिर सी बात है कि बच्चा होने के बाद पैरंट्स बने कपल्‍स की जिम्‍मेदारियां भी बढ़ जाती है।

ऐसे में, पेरेंट्स को अपने बच्चे के सामने इन हरकतों को भी करने से बचना चाहिए-

  • अपने बच्चों के सामने अपनी प्राइवेसी का ख्याल रखें, क्योंकि जब भी आप अपने बच्चों के सामने कुछ इस तरह की हरकते करते हैं, तब वह इसे पॉजिटिव वे में ले सकता है, और हो सकता है कि वह आगे चलकर इसका गलत फायदा उठाए। यह एक कारण हैं कि आपको अपने बच्चों के सामने ऐसी  हरकते नहीं करनी चाहिए।

  • यदि आपको लगता है कि आपके बच्चे रूम में सो रहे हैं, लेकिन यदि वह जगे हुए हों और आपदोनो को सेक्स करते हुए देख लें तब ऐसे में आप क्या कर सकती हैं। ऐसे में आपके लिए बेहतर यही होगा कि आप उन्हें किसी अलग रूम में सुलाएं और यदि उनके रोने की आवाज सुनाई दे तब आप उनके उनके पास जा सकती हैं। लेकिन, एक रूम में सेक्स करने की गलती न करें।

  • कभी-कभी किस करते-करते पति-पत्नी अपनी सीमा भूल जाते हैं और सेक्स की ओर कब बढ़ जाते हैं उन्‍हें पता ही नहीं चलता। वो यह भूल जाते हैं कि उनके बच्चे रूम में सो रहें हैं। इस लिए माता-पिता को बच्चों के सामने किस नहीं करना चाहिए क्‍योंकि यह आपके बच्चों के लिए सही नहीं है।

हालांकि, यह जरूरी नहीं है कि आपका रिश्‍ता सिर्फ शारीरिक रूप से जुड़ा हो, बल्कि आपका रिश्ता भावनात्‍मक रूप से मजबूत होना चाहिए। क्योंकि, बच्चा होने के बाद पैरंट्स की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। इसके विपरीत यदि आपको सेक्स करने की बहुत  इक्षा हो रही हो तो अपने बच्चे को दूसरे रूम सुलाएं। शायद आपको पता होगा कि वेस्टर्न कंट्री में लोग अपने बच्चे को कम समय से ही अलग कमरे में सुलाना शुरू कर देते हैं वहीँ, भारत में लोग 4 से 5 साल की उम्र का होने बाद ही बच्चे को अपने से अलग करते हैं।  

loader