प्राकृतिक तरीकों से करें बालों की देखभाल

मुझे आज भी याद है वो दिन जब मेरी माँ मेरे बालों में तेल लगाने के लिए मेरे पीछे-पीछे भागती थीं। हालाँकि, आज भी मेरे दो बच्चे होने के बाद भी मेरी माँ मेरे बालों में मसाज को लेकर बराबर कहती हैं। शायद यह मेरे माँ के मेहनत का फल है कि आज भी मेरे बाल घने और चमकदार हैं। ऐसे में आज भी मन करता है कि माँ के पास जाऊं और इस घने बाल के सीक्रेट के बारे में पूंछु। हालाँकि, यह सारे उपचार प्राकृतिक तौर पर होते थे।   

 

आमतौर पर अपने बच्चे को बालों में मसाज देने के साथ-साथ उन्हें हेल्दी डाइट भी दें, क्योंकि यह स्वस्थ बालों को बढ़ावा देने में मदद करता है। लेकिन,आज भी इंडियन मदर अपने बच्चों के बालों को सुंदर और चमकदार बनाने के लिए प्राकृतिक तरीकों में ज्यादा विश्वास रखती हैं। इतना ही इन प्राकृतिक चीजों को विज्ञान ने भी मानना शुरू कर दिया है, खासकर बालों के झड़ने से लेकर उनके बढ़ने तक के लिए आपके किचन में सारी चीजें मौजूद हैं। जिसके जरिए आप अपने बालों को सुंदर और उन्हें झड़ने से रोक सकती हैं। हालाँकि, यह सच है कि सदियों से बच्चों के स्वस्थ्य विकास के लिए घरेलू उपचार का सहारा लिया जा रहा है, और यही कारण है कि दुनिया में भारत स्वस्थ बालों के लिए प्रसिद्ध है।   

 

ख़ुशी की बात यह है कि मेरी माँ के कुछ महत्वपूर्ण सीक्रेट तत्व मुझे पता चल गए हैं, जिसमें हिबिस्कुस, करी पत्ता, और नारियल के तेल शामिल हैं। हिबिस्कुस और इसकी पत्तियों के जरिए एक मिश्रण बनाया जाता है, जिसे हम मलयालम में ताली के नाम से जानते हैं, जो बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। यह बालों को अंदरूनी तौर पर साफ कर उसे हेल्दी रखता है। हालाँकि, इसके सभी तत्व हिमालया  बेबी शैम्पू में मुख्य रूप से मौजूद होते हैं। इसके अलावा, चना का मिश्रण (प्रोटीन का एक प्राकृतिक स्रोत होता है, जो बालों के लिए आवश्यक है) और खुश घास जो एंटी फंगल और ठंडक प्रदान करने के गुण इसमें मौजूद होते हैं। ऐसे में, हिमालया बेबी शैम्पू न सिर्फ बालों को साफ करता है, बल्कि यह अंदरूनी तौर पर पोषण प्रदान करता है। जिससे कि बच्चों के स्वस्थ बालों को बढ़ावा देने में मदद मिलता है।

 

हालाँकि, आप इसका प्रयोग इस तरीके से भी कर सकते हैं: आप चाहें तो तेल को गर्म कर लें (मैं नारियल तेल और जैतून के तेल को बराबर भागों में लेती थी)। इन मिश्रण को अपने बच्चे के सर में अच्छी तरीके से मसाज करें। हालाँकि, मैं इस तेल को लगा कर रात भर के लिए छोड़ देती थी, लेकिन यदि आप इसे रात भर नहीं लगा देना चाहते हैं, तो कम से कम दो-तीन घंटों के लिए लगा रहने दें। उसके बाद हिमालया बेबी शैम्पू से उसके बालों को अच्छी तरह साफ कर दें। इस रूटीन को आप अपने बच्चे के लिए हफ्ते में 2 से 3 बार कर सकते हैं, इससे बच्चे को अच्छी नींद भी आएगी। ऐसे में, हिमालया बेबी शैम्पू न सिर्फ बालों को साफ करता है, बल्कि यह अंदरूनी तौर पर पोषण प्रदान करता है। जिससे कि बच्चों के स्वस्थ बालों को बढ़ावा देने में मदद मिलता है।

 

Translated by: Supriya Singh

 

 

loader