पिछले सर्दियों की तरह इस बार त्वचा को न होने दें बेजान !

This is what I learnt about baby skin care in winter

शैलजा प्रकाश

सर्दियों में त्वचा का रुखा होना बेहद आम बात है, क्योंकि इस मौसम में चेहरे की नमी खत्म हो जाती है। खासकर अगर छोटे बच्चे की बात करें, तो सर्दियों में उनके त्वचा की देखभाल की ज्यादा जरूत होती है। ऐसे में आज आपको शैलजा प्रकाश जो कि खुद एक बेटी की माँ हैं। वह आपको बता रही हैं, कि वह अपनी इस नन्हीं परी का सर्दियों में कैसे ख्याल रखती हैं।

शैलजा प्रकाश ने कहा कि, पांच साल पहले जब मेरी बेटी पैदा हुई थी, तब हमलोग मिनेसोटा (US) में रह रहे थे। जहाँ कड़ाके की ठंड रहती है, और तो और तापमान जीरो के करीब पहुँच चूका होता है। ऐसे में आप अंदाज़ा लगा सकती हैं, कि ठंड किस कदर होती है। ऐसे में, जब मेरी बेटी पैदा हुई तब मैंने डॉक्टर से कहा कि मुझे ऐसी कोई क्रीम के बारे में बताएं जिससे कि उसके स्किन की नमी हमेशा बरक़रार रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि, इस ठंड में मैं अपनी बेटी को कभी रोजाना नहीं नहलाती थी और तो और उसे हमेशा ढंक कर रखती थी। जब एक महीने बाद वापस अपने घर आयी तब हमारा डेली रूटीन सही हुआ, खासकर नहाने से लेकर उसके डायपर चेंज करने तक का। साथ ही कुछ महीने तक उसके त्वचा को नम रखने के लिए मेडिकेटिड मॉइस्चराइजर का प्रयोग करते थे। हालाँकि, इसके बाद इन्होंने इस मॉइस्चराइजर को हटा कर अपने कुछ दोस्तों के द्वारा बताए गए लोशन का प्रयोग किया। जिसका प्रयोग ये लोग मिनेसोटा में करते थे, इनका मुख्य उदेश्य यह था कि किसी तरीके से अपने बच्चे के स्किन का ख्याल रखा जा सके।      

लेकिन, दुःख की बात यह थी कि यह लोशन उनकी बेटी को बिल्कुल भी शूट नहीं किया, और अचानक एक रात उन्होंने अपनी बेटी के शरीर पर जगह-जगह लाल रैशेस देखें, जिसे देखकर यह घबरा गई। लेकिन, इन्होंने उस समय रैशेस पर पैट्रोलियम जेली लगा दिया, जिससे कि थोड़ा आराम हुआ। लेकिन,जब वह सुबह उठी तो अपनी बेटी का पूरा शरीर लाल रैशेस से भरा हुआ पाया, जिसे देखकर वह बिना कुछ सोचे-समझे डॉक्टर के पास गई। हालाँकि, डॉक्टर ने इस नए लोशन को लगाने से मना किया और दूसरे ब्रांड का लोशन लगाने की सलाह दी। लेकिन, कुछ दिन के बाद इन्होंने यह तय किया कि अपनी बेटी को वह आर्गेनिक लोशन लगाएंगी, जो पूरी तरह से प्राकृतिक होगी। और उन्होंने ऐसा किया भी, जब उन्होंने इसे लगाया तो किसी भी तरह को कोई रिएक्शन उनके बेटी के त्वचा पर नहीं हुआ। हालाँकि, यह प्रोडक्ट थोड़ा महंगा था, खासकर ठंडे इलाके में जहाँ इसकी जरूरत ज्यादा पड़ती थी। 

इसके अलावा, शैलजा ने कहा कि जब में वापस इंडिया आई, और मैं दूसरी बार माँ बनने वाली थी, उसी समय मैं ने तय किया कि मैं अपने बच्चे के स्किन को लेकर कोई लापरवाही नहीं बरतूँगी। हालांकि, जब वह US में थी तब उनके दोस्तों ने कुछ आर्गेनिक ब्रांड के बारे में सजेस्ट किया था। लेकिन, बाद में इन्हें लग कि यह एक सही विकल्प नहीं है, और उन्होंने कुछ अलग ट्राई करने का सोचा । फिर इन्होंने यहाँ पैराबेन्स फ्री कुछ प्राकृतिक उत्पाद को ढूंढना शुरू किया, जो उनके बच्चे के लिए सबसे अच्छा हो सके। तब उनके पड़ोसी ने उन्हें हिमालया का प्रयोग करने की सलाह दी। हालाँकि, इन्होंने मना कर दिया क्योंकि, इससे पहले इन्होंने इसका प्रयोग नहीं किया था। जब उन्हें बहुत ढूंढने के बाद कुछ हाथ नहीं लगा तब इन्होंने तय किया कि अब हमें हिमालया बेबी क्रीम का प्रयोग करना चाहिए।    

लेकिन, इसका प्रयोग करने के बाद तो उन्हें यकीन ही नहीं हुआ कि यह इतना अच्छा भी हो सकता है। क्योंकि, इसके प्रयोग से उनके बच्चे को किसी भी प्रकार का कोई रिएक्शन नहीं हुआ। साथ ही उन्होंने कहा कि जब मेरा बेटा 4 महीने का था तब से लेकर आज तक मैंने हिमालया के अलावा किसी दूसरे प्रोडक्ट के बारे में नहीं सोचा। साथ ही यह क्रीम में अपनी बड़ी बेटी को भी लगाती हूँ।   

साथ ही उन्होंने इस क्रीम के बारे में बताया कि जब हम इसे ट्यूब से बाहर निकालते हैं तो यह बहुत गाढ़ा होता है, लेकिन इसे जैसे ही बच्चे के चेहरे पर लगाती हूँ तब वह आसानी से 10 मिनट के अंदर पूरे चेहरे में फ़ैल जाता है। और तो और हमारे बच्चे के चेहरे को बहुत देर तक नमी प्रदान करता है। क्योंकि, इसमें ऑलिव ऑयल के गुण मौजूद होने के कारण यह चेहरे को नमी के साथ-साथ उसे कोमलता प्रदान करता है। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि यह क्रीम चोट लगने पर भी बहुत कारगर होता है, जो घावों को जल्दी भरने का काम करता है।  

अंत में उन्होंने कहा कि यह क्रीम हमारे स्टॉक में हमेशा रहता है, जिसे मैं अपने दोनों बच्चों को लगाती हूँ। भले ही मेरी बेटी एक बच्ची नहीं रही फिर भी मैं उसे हिमालया बेबी क्रीम ही लगाती हूँ। सबसे मजेदार बात तो यह है कि कभी-कभी जब इनका क्रीम खत्म हो जाता है, तब वह इसी क्रीम का प्रयोग करती हैं, जो उन्हें अच्छा के साथ-साथ संतुष्टि भी प्रदान करता है।

उत्पाद : हिमालया बेबी क्रीम
मूल्य : 400 ml- 225 रुपये, 200 ml- 150 रुपये और 100 ml-  85 रुपये
यह क्रीम शिशु और बच्चे के त्वचा की नमी के लिए है।
सक्रिय प्राकृतिक अवयव : ऑलिव ऑयल, कंट्री मैलो (देशीय पौधा), लीकोरिस
रेटिंग : 4.5 / 5

 

 

 

 

loader