नए साल में 10 संकल्प परिवार के लिए 

हर साल नया साल जब आने को होता है तो कई तरह के संकल्प लिए जाते हैं। कोई ये प्रण लेता है कि इस साल रोज सुबह एक्र्ससाइज होगी और फिट रहेंगे। सबसे ज्यादा इस बात पर ध्यान दिया जाता है कि नए साल में वजन का नियंत्रण में रखना है। ये तो बात सिर्फ कहने और सोचने की हुयी, असल में जैसे-जैसे नए साल का जोश खत्म होता है। वैसे ही ये रिज्यूलुशन भी दम तोड़ते नज़र आते हैं। नया साल आने को है क्यों न इस साल कुछ ऐसा संकल्प लिया जाए तो पूरी परिवार के काम आए? जब बात परिवार की होती है तो सारे वादे और उम्मीद आसानी से पूरी हो जाती हैं। तो क्यों न परिवार का साथ लिया जाए और कुछ अलग करें…..

1.सप्ताहिक रिवाज जिससे होगा अनोखा एहसास

इस साल मेें परिवार के साथ बैठकर मूवी देखें। इसके लिए ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है बस कुछ फिल्में चुन लें जो परिवार के साथ बैठकर देखी जा सकती हैं। वैसे भी सिर्फ तीन घंटे का सवाल है लेकिन ये वक्त आपके और बच्चों के लिए बेहद कीमती होगा। ऐसा करने के लिए कुछ ऐसी फिल्म की सीडी भी रख लें जो बचपन में आप दोनों ने देखी थी। इसके अलावा गेम भी खेल सकते हैं जैसे उनो, चेस के अलावा कई फैमली को हिस्सा बनाएं। यकीन मानिए आपको बचपन याद आ जाएगा।

2. साथ बिताएं वक्त

सप्ताहांत या वीकेड कहने को बड़ा रोमांचक लगता है लेकिन इतनी तेजी से निकल जाता है कि पता ही नहीं चलता है। कहीं बर्थडे पार्टी या फिर स्पोर्ट टीम के साथ वक्त निकल जाता है। वो सब करते रहें मगर बीच-बीच में बच्चों के साथ बीताने के लिए भी वक्त निकालें। इस साल अगर आप किसी हिल स्टेशन या बीच वाले शहर में रहते हैं तो परिवार के साथ वहां जाएं। उनके साथ मौज मस्ती करें। परिवार के साथ पिकनिक पर जाएं, साइंस सिटी जाएं।

3- सिर्फ ̔हैलो̕ और ̔हाय̕ नहीं खास हो ̔बाय̕

आॅफिस जाते वक्त अक्सर लोग बहुत जल्दी में रहते  हैं। तो बस हाथ हिलाकर बाय बोल के रुख्सत हो जाते हैं। नए साल में रिश्तों में गरमाहट वापस लाएं और आॅफिस जाते वक्त बच्चे को किस करना या गले लगाकर देखें। हां, बच्चे की मां को भी इस गरमाहट का एहसास दें। और हां ̔आई लव यू̕ भी बोल सकते हैं कहते हैं की ये तीन जादुई शब्द कमाल के हैं।

4. औरों की मदद

अगर किसी मदद करने का इरादा है तो इस साल शुरू कर दें। बस छोटी सी शुरुआत करें। घर के पुराने कंबल, तौलिया और खिलौने कपड़े इक्कट्ठा कर लें। इनको किसी गरीब या जानवरों को शेल्टर में दान कर सकते हैं।

5. साथ करें एक्सर्साइज़ 

इसका ये मतलब नहीं कि बच्चे को जिम में ले जाना है। इसके अलावा बच्चे की उम्र को ध्यान में रखकर उसे योगा क्लास में साथ ले जाएं। ताकि एक अच्छी आदत वो सीख सकेगा। इसके अलावा स्कूल के बाद टहलने निकल जाएं। वैसे नए साल में ये सबसे आम और कठिन संकल्प होता है। तो ध्यान रखें कि बीच में इसे टूटने नहीं देना है। इसलिए लक्ष्य निर्धारित  कर लें।

6- डाइट हो हेल्दी

बच्चे के लिए ये सज़ा से कम नहीं होगा। इसे थोड़ा आसान बनाएं कि जितना हेल्दी वो खाएगा। उतना ही उसे टीवी देखने दिया जाएगा। कुछ प्राइज और प्वाइंट का प्रस्ताव रखें। जितने अच्छी तरह से वो हरी सब्जी खाएं उनको गिफ्ट दें जैसे कभी कुछ बाहर का खिलाने का या टाॅय स्टोर ले जाएं। उसकी पसंद का खिलौना दिला दें।

7- डिवाइस न हो डाइनिंग के वक्त

हमारी आदत हो चुकी है कि हर वक्त फोन पर चैट या मेल चेक करते रहते हैं। इस साल ये संकल्प लें कि खाने की टेबल पर सिर्फ आपस में बात होगी। कोई भी इलेक्ट्रिक डिवाइस साथ नहीं होगी। आपको बहुत अच्छा और रिफ्रेशिंग महसूस होगा। इससे आप सुकून से परिवार के साथ बैठ सकेंगे।

8- सुरक्षित हो ड्राइविंग

जब हम टैªफिक में फंसते हैं फटाफट फोन में लग जाते हैं। अक्सर तो ड्राइविंग के वक्त बात करते रहते हैं फिर चाहे वो टू व्हीलर हो या फोर लोगों की ये आदत है।

9. पर्यावरण के लिए करें कुछ

हालही में चेन्नई की जो हालत हुयी और इसके पहले उत्तराखंड, नेपाल के हादसे हम सबको याद है। कोशिश करें कि नए साल में ईको फ्रेंडली बनें। अपने बच्चों को रिसाइकलिंग के बारे में बताएं। पानी का इस्तेमाल जरूरत पर करें और इस बात का ध्यान रखें कि पानी का नुकसान न हो। बच्चों को रोजाना दांत साफ करना, बिजली बचाना बताएं ।हमेशा कार पर निर्भर न रहें कुछ दिन बाइक या पैदल ,पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करें।

10. इमरजेंसी की सुरक्षित तैयारी

ये जाने की आपके परिवार को कैसे और कब आपकी जरूरत पड़ सकती है। यहां तक कि अगर घर में जानवर पाला है तो उसकी भी जरूरत को समझें। सुरक्षित रहने के लिए किस जगह आप रह रहे हैं इसको ध्यान में रखें अगर आप ऐसी जगह रहते हैं जहां पर बाढ़, भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा आना आम है, तो उसके लिए समय पर प्रेक्टिस करें। कब,कैसे और कहां पर रहकर खुद को बचाया जाएगा।

 

Featured Image Fashion Designer Ritu Khare with her kid Lucknow

loader