नवजात शिशु में बार-बार पॉटी होने के कारण

शिशु में लूज़ मोशन की समस्या | Shishu men loose motion ki samasya

नवजात शिशु में बार-बार पॉटी होना एक बेहद आम समस्या है, खासकर वह शिशु जो माँ का दूध पीते हों। क्योंकि, शुरुआत के कुछ दिनों तक उन्हें एडजस्ट करने में थोड़ा समय लग सकता है। लेकिन, एक महीने के बाद यह समस्या खुद ब खुद खत्म होने लगती है। हालांकि, इन दिनों कुछ शिशु को दिन में 4 से 5 बार पॉटी होती है, लेकिन इस दौरान इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि शिशु का पॉटी किसी तरह का होता है। ऐसे में, निचे कुछ बातें बताई जा रही हैं जिसे ध्यान में रखा जाना चाहिए, जो निम्न हैं-

  • यदि वह 5 या उससे अधिक बार पॉटी कर रहा हो।

  • पॉटी बिल्कुल पानी की तरह पतला हो।

  • मल बहुत अधिक गंध वाला हो।

  • मल के साथ खून निकल रहे हों।

  • दस्त के साथ उल्टी की समस्या होने पर।

इस तरह की समस्या उत्पन्न होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि यह सामान्य नहीं है। इस दौरान आप अपने शिशु में यह देख सकते हैं कि वह न तो अच्छे से आपका दूध पी रहा है, न सो रहा है और लगातार रोए जा रहा है।

आमतौर पर इस तरह की समस्या शिशु में इन कारणों से भी हो सकती है, जिनमें निम्न शामिल हैं-

  • फॉर्मूला दूध पीने से

  • सर्दी-जुकाम होने पर

  • माँ द्वारा लिए गए किसी भोजन की विषाक्ता के कारण

  • दूध के बोतल से इंफेक्शन होने के कारण

ऐसे में, जब शिशु जरूरत से ज्यादा पॉटी कर रहा हो तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि, यह शिशु में पानी की कमी को पैदा कर सकता है, जो शिशु के लिए खतरनाक हो सकता है। इसके अलावा, शिशु के आस-पास साफ-सफाई का ध्यान रखें ताकि संक्रमण होने का खतरा न हो।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

loader