नवाजत शिशु को सुलाने का 6 सबसे बेस्ट तरीका

अब आपका नवजात शिशु रात में नहीं करेगा आपको तंग, करें सिर्फ यह उपाय | Ab aapka nawjat shisu raat men nahi karega aapko tang, karen sirf yah upay.

अक्सर नवजात शिशु रात में हर एक घंटे पर उठते हैं, इससे आपका नींद खराब होता है और जब आप सुबह उठती हैं तब आपको काफी थकान महसूस होता है। क्योंकि, इन दिनों शिशु थोड़ी-थोड़ी देर में जागते और सोते हैं। कुछ बच्चे तो ऐसे होते हैं जो गोद में तो सोते हैं लेकिन, बेड पर आते ही उठ जाते हैं। ऐसे में, आप कुछ टिप्स को फॉलो कर उन्हें रात में अच्छी नींद सुला सकते हैं।  

शिशु रात में इन कारणों से भी जग सकते हैं-

  • भूखे होने पर

  • कमरे में अँधेरा होने पर

  • नैपी गीला होने पर

  • किसी तरह की तकलीफ या परशानी होने पर

  • पेट में दर्द होने आदि पर भी बच्चे सो नहीं पाते हैं।

रात में शिशु को कैसे सुलाएं ?

भूखा न छोड़े

जब आपक नवजात 1 महीने का या उससे कम का होता है तब वह, 24 घंटों में से 10 से 18 घंटे तक सोता है। उन के सोने-जागने का चक्र उन की जरूरत के हिसाब से भी चलता है। ऐसे में, शिशु का पेट इतना छोटा होता है कि मां का दूध जल्दी पच जाता है। इसलिए उसे जल्दी से भूख लग जाती है, ऐसे में शिशु की भूख के कारण नींद खुल जाती है। ऐसे में, अपने शिशु को भूखा न छोड़े और जितनी जल्दी आप उसे दूध पिलायेंगी उतनी ही जल्दी वह सोएगा।

बच्चे की नैप्पी चेक करें

शिशु के रात में जागने का एक कारण यह भी है, क्योंकि उसे गीले पर सोना बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है। ऐसे में, जैसे ही उसकी नैप्पी गीली होती है वैसे ही वह रोने लगता है। ऐसे में, आप उसकी नैप्पी बदल दें क्योंकि ज्यादा देर तक गीली नैप्पी के कारण रैशेस और दाने की समस्या हो सकती है।

कमरे को अँधेरा न छोड़े

इस उम्र में बच्चे जब नींद से जागते हैं तब वह रोने लगते हैं, खासकर जब आपका कमरा पूरी तरह से अंधेरा हो। ऐसे में, आप अपने कमरे में एक नाईट बल्व लगा दें आप चाहें तो अपने कमरे में लाल रंग की बल्ब लगा सकती हैं क्योंकि बच्चे को लाल रंग बेहद आकर्षित करती है। ऐसे में शिशु उस लाल रंग की बल्व को देख कर चुप रह सकते हैं।

शिशु को खेलने दें

कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं, जिन्हें रात में नींद नहीं आती है वह चुपचाप अपना हाँथ-पैर पटक कर खेलने लगते हैं। और जब उन्हें नींद आती है तब वह थक कर सो जाते हैं। ऐसे में, यदि वह चुप चाप खेल रहा हो तो उसे खेलने दें।

शिशु को सीने से लगाएं

रात में जब आपका शिशु नींद से अचानक से जाग जाए तो आप उसे अपने सीने से लगा कर सुला सकती हैं। क्योंकि, इससे नवजात को आपके पास होने का अहसास होगा और वह सो जाएगा।

शाम के समय सोने न दें

जब शिशु थोड़ा बड़ा हो जाए तो यह कोशिश करें कि वह शाम में न सोए, क्योंकि जो बच्चे शाम में सोयेंगे उन्हें रात को नींद नहीं आएगी। हालाँकि, अक्सर बच्चे शाम को सोना ज्यादा पसंद करते हैं इसलिए शाम में सोने देने से बचें। इसके लिए आप उनका ध्यान भटका सकती हैं, और इधर-उधर घुमा भी सकती हैं।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं

loader