नवरात्रि 2016 में क्या पहनें ख़ास

Published On  September 30, 2016 By
नवरात्रि में कैसे तैयार हों

इस साल 1 अक्टूबर से नवरात्रि शुरू होने वाली हैं। नवरात्रि से दशहरा तक पूरे भारत में धूमधाम रहती है और हर प्रदेश के लोग इसे अपने प्रकार से मनाते हैं। बंगाली लोग दुर्गा पूजा करते हैं, कर्नाटक में डॉल्स का डेकोरेशन किया जाता है और गुजरात में गरबा खेलते हैं। क्या आपने अभी तक इस पर्व के लिए कुछ तैयारी करके रखी है? अगर नहीं तो बेहतर है। नवरात्रि बहुत ख़ास होती है और इसे स्पेशल तरीके से ही मनाना चाहिए। लड़कियों और महिलाओं के लिए इन दिनों सुन्दर सी ड्रेसेस पहनने का समय होता है ताकि वो बाहर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में अलग दिख सकें और उनका ड्रेसिंग सेंस किसी कांसेप्ट पर आधारित हो। ज़ेन पेरेंट्स आपको बता रहा है कि आप इन दिनों में किस-किस कलर की ड्रेस पहने जोकि नौ देवी के रूपों को बतलाता है:

ग्रे और ओरेन्ज – माँ शैलपुत्री  

इस बार शुरुआत के दो दिन माँ शैलपुत्री की पूजा होगी। इस अवसर पर आप पहले दिन ग्रे कलर की और दूसरे दिन ऑरेंज कलर की साड़ी पहन सकती हैं। वैसे ऑरेंज कलर का सूट भी बहुत अच्छा लगता है। अनारकली सूट हो तो उसे ही पहनें। इन दिनों काफी ट्रेंड में भी है।

सफ़ेद –  माँ ब्रह्मचारिणी

तीसरे दिन यानि 3 अक्टूबर को माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा होगी और सफ़ेद रंग को उनका प्रतीक माना जाता है। इसलिए आप व्हाइट कलर की साड़ी को केरल स्टाइल में पहन सकती हैं और स्टाइल आइकॉन बन सकती हैं।   

लाल – माँ चंद्रघंटा

चूँकि इस दिन सिन्दूर तृतीया तीज मनाई जाती है इसलिए लाल रंग को सुहागिन महिलाएं धारण करती हैं। माँ चंद्रघंटा को भी भी लाल रंग की ड्रेस पहनाई जाती है। आप इस दिन रेड कलर की हैवी इंडियन ड्रेस पहनें।  

नेवी ब्लू  – माँ कृष्माण्डा

देवी के चौथे रूप माँ कृष्माण्डा को संसार की ऊर्जा का स्रोत माना जाता है इसलिए उनका रंग ब्लू है। आप ही इस दिन ब्लू कलर का सलवार कुरता पहनें। अगर आप डांडिया खेलने जाने वाली हैं या गरबा पार्टी में जा रही हैं तो भी ब्लू कलर का लंहगा पहनें।  

पीला – माँ स्कन्द माता

स्कन्द माता को दुष्टों का सर्वनाश करने की देवी माना जाता है। इस दिन महिलाएं उपांग ललिथा गौरी उपवास रखती हैं और पीले रंग के कपड़े ही पहनती हैं। आप इस दिन लेमन येलो कलर का कुरता और जीन्स पहन सकती हैं।  

हरा- माँ क़ात्यांनी

ऐसा कहा जाता है कि माँ कात्यानी, ऋषि कात्या की बेटी थी और उनकी पूजा करने से घर में समृद्धि आती है। इस दिन पारंपरिक रूप से हरे कपड़े पहनने का रिवाज़ होता है इसलिए आप हरे रंग की साड़ी पहनें।

पीकॉक ग्रीन – माँ कालरात्रि

माँ कालरात्रि, को बुरी शक्तियों का नाश करने वाली और शत्रुओं का संहार करने वाली माना जाता है। वैसे तो माता कालरात्रि को काले रंग के कपड़ों में सजाया जाता है लेकिन आप इस दिन पीकॉक ग्रीन कलर की साड़ी पहनें। ये रंग जीवन में खुशियों का प्रतीक होता है।  

पर्पल   – माँ महागौरी

माँ महागौरी सभी भक्तजनों के पापों को हरती हैं।  ऐसा मानते हैं कि कई सालों तक उन्होंने भगवान शिव को प्राप्त करने के लिए तपस्या की थी और उनके शरीर पर बहुत सारी धूल जमा हो गयी थी, जिसे बाद में भगवान शिव ने गंगा से धुल दिया था और उनसे विवाह कर लिया था। इसलिए पर्पल कलर को उनका रंग मन जाता है। आप इस दिन पर्पल कलर की साड़ी पहन सकती हैं।     

स्काई ब्लू – माँ सिद्धिरात्रि

माँ सिद्धिरात्रि को सुपर नेचुरल पावर्स की देवी माना जाता है। इसलिए उन्हें स्काई ब्लू कलर से दर्शाया जाता है। आप इस दिन स्काई ब्लू कलर की हैवी एम्ब्रॉयडरी वाली ड्रेस पहनें और एंजॉय करें।   

पिंक – कन्या भोज

नवरात्रि  के अंतिम दिन कन्या भोज किया जाता है। आप इस दिन पिंक कलर की ड्रेस पहनें और पूरे नवरात्रि उत्सव को अच्छे से आनंदपूर्वक मनाएं।

मॉर्डर्न मोना- मदर लाइफस्टाइल!एक दैनिक कॉलम, जहाँ महिलाओं से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है।  जैसे- स्वास्थ्य, फैशन, फिटनेस, बच्चों का रख-रखाव, मनोरंजन, सेक्स आदि की जानकारी के लिए आप अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।