मेनोपॉज की समस्या के लिए 4 घरेलू उपचार

मेनोपॉज की समस्या हर महिलाओं के लिए दर्दनाक होती है, खासकर जब महिलाएं 40 के आस-पास पहुँचती हैं। यह समस्या हर महिलाओं को उनके जीवनकाल में आती हैं। हालाँकि, मेनोपॉज के दौरान गर्भाशय में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रान नामक हार्मोन का बनना बंद हो जाता है। इस दौरान महिलाओं को कई तरह के शारीरिक समस्याओं से गुजरना पड़ता है, जैसे कि बहुत ज्यादा गर्मी लगना, सेक्स की इक्छा में कमी, थकावट महसूस होना आदि के रूप में। सामान्यतः निचे कुछ उपाय बताए जा रहें हैं जिसके जरिये महिलाएं खुद को इस समस्या से बचा सकती हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

सोया

मेनोपॉज के दौरान होने वाले लक्षणों से राहत पाने के लिए सोया काफी फायदेमंद माना जाता है। इस में आइसोफ्लैवोनेस नामक ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो एस्ट्रोजन हॉर्मोन से काफी मिलता-झूलता होता है। इसलिए इसके सेवन से मेनोपॉज़ में नज़र आने वाले लक्षणों से राहत मिलती है। डॉक्टर सोया को टोफू और सोया मिल्क के रूप में लेने की सलाह देते हैं। टेबलेट या पाउडर के रूप मे, इसके सेवन की सलाह नहीं दी जाती है।  

अलसी

अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है, जो फाइटोएस्ट्रोजन की तरह काम करता है। यह महिलाओं में मेनोपॉज़ के दौरान नज़र आने वाले लक्षणों से राहत देता है। इसी के साथ येन कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करता है। साबूत अलसी नहीं खाना चाहिए, इसे पचाना मुश्किल होता है।

विटामिन E

विटामिन E का सेवन करने से बहुत ज्यादा गर्मी लगना जैसी समस्या से राहत मिलती है। इसके अलावा विटामिन E युक्त तेल को योनि में लगाने से वैजाइना में सूखापन जैसी समस्या में भी काफी राहत मिलती है।

योग और व्यायाम

व्यायाम और ध्यान से, चिड़चिड़ापन और अत्यधिक गर्मी लगाना जैसी समस्या से राहत पाया जा सकता है। योग और व्यायाम से नींद सम्बंधित समस्या से राहत पाया जा सकता है।

loader