महिलाओं में थायराइड के लक्षण, और इसके घरेलू उपचार

आज के समय में थायराइड की समस्या काफी आम हो गई है, जिसे देखो इस समस्या से पीड़ित है। लेकिन, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायराइड की समस्या अधिक पाई जाती है, जो बढ़ती उम्र के साथ और भी बढ़ सकता है। आमतौर पर, कुछ लोगों को यह भी पता नहीं है कि थायराइड क्या है और किस वजह से होता है। ऐसे में, सबसे पहले यह जानना बहुत जरूरी है कि थायराइड है क्या।

थायराइड क्या है ?

यह समस्या हार्मोन के द्वारा उत्पन्न होती है, जिसके कारण थायरॉइड ग्रंथि आपके शरीर में लगभग सभी मेटाबोलिज्म प्रक्रियाओं को प्रभावित करती है। आमतौर पर, थायराइड मनुष्य के शरीर में पाए जाने वाले एंड्रोक्राइन ग्लैंड में से एक है यह थायराइक्सिन हार्मोन को बनाता है। जो सीधे तौर से आपके मेटाबोलिज्म को प्रभावित करता है।   

महिलाओं में थायराइड के लक्षण

सामान्यतः शुरुआती तौर पर इसके लक्षण नज़र नहीं आते हैं, लेकिन बाद में इसके लक्षण इस तरह से नज़र आ सकते हैं जैसे-

थायराइड नोडल्स

अधिकांश थायराइड नूडल्स किस भी लक्षण का कारण नहीं बनता है।

हाइपोथायरायडिज्म

इसके प्रमुख लक्षणों में थकान, कोल्ड सेंसिविटी, कब्ज, शुष्क त्वचा, वजन का बढ़ना और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कम़जोर होना शामिल है।

हाइपरथायरायडिज्म

इसके लक्षणों में सबसे पहले अचानक से वजन का कम हो जाना, बहुत अधिक गर्मी लगना, भूख में वृद्धि, अत्यधिक पसीना आना या फिर मांसपेशियों का कमजोर होना और घेघा शामिल हैं।  

जरूरी नहीं कि इसका लक्षण प्रत्यक्ष रूप से सामने आए, लेकिन होने वाले लक्षणों में सूजन और खाँसी शामिल है।

थायराइड से होने वाली समस्या

  • तेज़ी से वजन का बढ़ना- थायराइड के कारण जो सबसे समस्या सबसे आम है वह है अचानक से वजन का बढ़ना। क्योंकि, इसके कारण मेटाबॉलिज्म बहुत ही धीमा हो जाता है, ऐसे में आप जो कुछ भी खाती-पीती हैं उसका उचित तरीके से इस्तेमाल नहीं हो पाता है। यानि कि जिस मात्रा में एनर्जी की खपत होनी चाहिए उस हिसाब से नहीं हो पाता है। जिसके कारण आपके बॉडी में फैट का जमा होना लाज़िमी है, और यही कारण है कि आपका धीरे-धीरे वजन बढ़ने लगता है।
  • थकान महसूस होना- यह सच है कि जब थायराइड अंडरएक्टिव होता है तो शरीर को पर्याप्त एनर्जी नहीं मिलती है। जिसके कारण आपको बहुत अधिक थकान और नींद का अनुभव होता है। इतना ही नहीं, आप खुद को कितना भी एक्टिव रखने की कोशिश क्यों न करें आपको थकान का अहसास होता ही है।
  • नाखून का कमजोर होना- यह इसके लक्षणों में सबसे आम है जो बहुत जल्दी नज़र आते हैं। यदि आप में थायराइड के लक्षण हैं तब आपके नाखून न केवल कमजोर होते हैं बल्कि वह काफी पतले हो जाते हैं। जिससे कि वह बीच से फट कर टूटने लगती है।
  • मांसपेशी और जोड़ों में दर्द-इसके कारण आपको मनःसपेशियों और जोड़ों में दर्द की समस्या भी रह सकती है। खासतौर से, हाँथ, पैर और शरीर के अन्य हिस्सों में। 
  • इम्युनिटी का कमजोर होना- थाइराइड होने पर शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम़जोर हो जाती है। जिसके कारण बीमारियां तेज़ी से हावी होने लगती हैं। इसके अलावा, लोग बहुत अधिक सुस्त और थका हुआ महसूस करते हैं।
  • अनियमित पीरियड्स की समस्या- महिलाओं में थाइराइड का जो सबसे बड़ा लक्षण है वह यह है कि इस दौरान उनका पीरियड्स काफी अनियमित हो जाता है। इसलिए इस तरह की समस्या उत्पन्न होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें, ताकि जल्द से जल्द इलाज किया जा सके।

थायराइड के उपचार

थायराइड से पीड़ित लोगो को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि उचित आहार के जरिए आप इसे कंट्रोल कर सकती हैं, इसलिए निचे कुछ घरेलू तरीके बताए जा रहें जो निम्न हैं-

विटामिन ए का सेवन

यदि आपमें थायराइड के लक्षण मौजूद हों तो उसका उपचार आप बहुत ही सरल तरीके से कर सकती हैं, खासकर अपने खान-पान से संबंधित चीज़ों में। इसके लिए आप अपने आहार में विटामिन ए खाद्य पदार्थ को जरूर शामिल करें। क्योंकि, इसमें एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण होने के कारण यह कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स के हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं। ऐसे में, आप अपने आहार में पनीर, गाजर, चुकंदर, पीले या नारंगी रंग के फल, टमाटर, ब्रोकली, चीकू और साबुत अनाज को जरूर शामिल करें।

आयोडीन का सेवन

आयोडीन का सेवन भी थायराइड के उपचार में सहायक माना जाता है, इसके लिए आप अपने शरीर में इसकी पूर्ती घरेलू तरीके से करें। जैसे कि टमाटर, प्याज़, लहसुन आदि में आयोडीन की मात्रा होती है जो थयरॉइड को कंट्रोल करने में सहायक होता है।

अश्वगंधा

अश्वगंधा भी थायराइड में अच्छा माना जाता है, इसके लिए आप रोजाना दूध के साथ एक चम्मच अश्वगंधा का सेवन रात में सोने से पहले करें।

हरे धनिए का पानी

हरा धनिया भी इसके इलाज में अच्छा काम करता है, इसके लिए आप हरे देशी धनिए को उबाल कर रोजाना खाली पेट सेवन करें।

खूब पानी पिएं

थायराइड को कंट्रोल में करने के लिए आप रोजाना 4 लीटर पानी का सेवन करें क्योंकि यह आपके शरीर से विषैले पदार्थों को निकालने में मदद करता है। इसके अलावा, आप जूस का भी सेवन कर सकते हैं।

अगर आप थायराइड को सच में कंट्रोल में करना चाहती हैं तो इसके लिए आप एक्सरसाइज का भी सहारा ले सकती हैं, क्योंकि यह भी एक अच्छा तरीका है थायराइड को कम करने का।

loader