महिलाओं में हार्ट अटैक के 5 शुरुआती लक्षण

जरूरी नहीं कि महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण एक जैसे हों, खासकर पुरुषों की तुलना में। हालाँकि, देखा जाए तो महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण कुछ दिन पहले से नज़र आने लगते हैं, लेकिन वह इसे नज़रअंदाज़ करती चली जाती हैं। जो कि आगे चलकर हार्ट-अटैक का कारण बनता है, ऐसे में आज हम आपको हार्ट-अटैक के कुछ ऐसे लक्षण के बारे में बताने जा रहें हैं जिसका पता महिलाएं समय से पहले लगा सकती हैं, और इसके खतरों से बच सकती हैं, जो निचे दिए जा रहे हैं-

छाती में दर्द या बेचैनी

छाती में दर्द की समस्या हार्ट अटैक का सबसे आम लक्षण है, लेकिन कुछ महिलाएं इसे अलग तरीके से महसूस कर सकती हैं। जैसे कि इस तरह के दर्द महिलाएं कहीं भी महसूस कर सकती हैं जैसे कि दाई ओर या अन्य जगहों पर। जिससे कि महिलाएं काफी असहज महसूस करती हैं। 

हाँथ, पीठ, गर्दन, या जबड़े में दर्द

इस तरह के लक्षण पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक आम है। खासतौर से यह उन महिलाओं को अधिक भ्रमित कर सकता है जो सिर्फ अपने सीने या बाएं हाथ के दर्द को अधिक केंद्रित करती हैं, न कि उनकी पीठ या जबड़े को। हालाँकि, इस तरह के तेज़ और अचानक से हो सकता है, जो आपको नींद से भी जगा सकता है। ऐसे में, यदि किसी महिला में इस तरह के लक्षण नज़र आए तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 

पेट में दर्द 

कभी-कभी महिलाएं पेट दर्द को गैस और अन्य कारण समझने की भूल कर बैठते हैं। लेकिन, उन्हें यह नहीं पता  भी एक हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है। इसके अलावा, महिलाएं पेट दर्द के अलावा, पेट में बहुत अधिक दवाब महसूस कर सकती हैं। ऐसे में, इस तरह के लक्षण को नजरांदाज़ करना घातक हो सकता है। 

साँस लेने में कठिनाई 

इसके अलावा, जब किसी महिला को सांस लेने में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई उत्पन्न हो तब यह हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है। क्योंकि, इस समय आपका ह्रदय अच्छे से काम नहीं कर पाता है जिसके कारण, फेफड़ों तक उतनी मात्रा में आक्सीजन नहीं पहुंचती जितनी की जरूरत होती है। ऐसे में, इस दौरान महिलाओं को साँस लेने में तकलीफ होती है।  

शरीर में सूजन की समस्या 

शरीर में सूजन की समस्या आमतौर से पैरों, घुटनों या फिर अन्य हस्सों में हो सकती है। क्योंकि, ह्रदय को शरीर के बाकी अंगों में रक्त पहुंचाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है, जिसकी वजह से शिराएं फूल जाती हैं और उनमें सूजन आ जाती है।  

थकान 

कुछ महिलाओं में दिल का दौरा पड़ने से पहले उनमें थकान की समस्या देखने को मिलती है। 

हार्ट अटैक के दौरान बरती जानें वाली सावधानियां-

– जितनी जल्दी हो डॉक्टर के पास जाएँ। 

– इस तरह के लक्षणों की अनदेखी भूलकर भी न करें। 

इसके अलावा, यदि किसी को अचानक हार्ट अटैक आया हो तब मरीज को हर दस सेकेंड में जोर के खांसने की कोशिश करनी चाहिए खांसने के दौरान मरीज के ह्रदय पर दवाब पड़ता है जिसके कारण ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है।  

Feature Image Source: brightside.me

loader