क्यों होती है महिलाओं में वेजाइनल ब्लीडिंग ?

महिलाओं में वेजाइनल ब्लीडिंग | Mahilaon mein vajinal bleeding

बहुत सी महिलाओं में वेजाइनल ब्लीडिंग की समस्या सुनने और देखने को मिलती है, जिस दौरान उन्हें असामान्य रक्तस्त्राव, या क्लॉट लगने की समस्या को झेलना पड़ता है। हालाँकि, योनि से बिना किसी कारण के रक्तस्राव का होना असमान्य माना जाता है, जिसका सही समय पर इलाज़ न कराने से यह घातक भी हो सकता है।

ज्यादातर महिलाएं, इस तरह की समस्या होने पर घबरा जाती हैं, लेकिन इससे डरने की जरूरत नहीं है बल्कि, उन्हें समय रहते अपने डॉक्टर से संपर्क करना चहिये। हालाँकि, ऐसे कई कारण हैं, जो  वेजाइनल ब्लीडिंग की समस्या को बढ़ावा देते हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं-

  • योनि संक्रमण- वेजाइनल ब्लीडिंग का सबसे बड़ा कारण योनि में संक्रमण होता है, और यह संक्रमण ज्यादातर गंदगी के कारण फैलता है। क्योंकि, कुछ महिलाएं अपने योनि की साफ-सफाई पर ध्यान नहीं देते हैं, इसके अलावा असुरक्षित यौन सम्बन्ध भी इसका एक कारण है।  

  • ख़राब लाइफस्टाइल- इसके अलावा योनि स्राव की समस्या खराब जीवन-शैली के कारण भी हो जाती है। क्योंकि इस दौरान, महिलाएं न तो सही से डाइट ले पाती हैं और न ही नींद, जिस वजह से यह समस्या उत्पन्न होती है।

  • गर्भावस्था के दौरान- गर्भावस्था के दौरान रक्त स्राव का होना एक अलग समस्या है। लेकिन अधिक मात्रा में योनि से रक्त का निकलना सामान्य नहीं होता, ऐसे में यदि किसी गर्भवती महिला को अचानक योनि से अधिक मात्रा में रक्तस्राव हो रहा हो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।  

  • हार्मोन में परिवर्तन- महिलाओं में, असामान्य गर्भाशय रक्तस्राव के कई कारण हैं। महिलाओं में यह समस्या कभी-कभी हार्मोन के स्तर में परिवर्तन के कारण भी हो सकती है। इसके अलावा, गर्भाशय में वृद्धि या खून के थक्के के रूप में भी यह समस्या उत्पन्न हो सकती है।

  • पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम- महिलाओं में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओ) एक हार्मोन असंतुलन है, जो कि सामान्य ओवुलेशन के साथ हस्तक्षेप और असामान्य रक्तस्राव का कारण बन सकता है ।

  • गर्भनिरोधक गोलियां- कभी-कभी इस तरह के गर्भनिरोधक गोलियों के रूप में दवाओं का सेवन, असामान्य रक्तस्राव को पैदा कर सकता है। इसके अलावा, अंतर्गर्भाशयी डिवाइस ( आईयूडी) भी मासिक धर्म या सामान्य तौर से महिलाओं में भारी रक्तस्राव का कारण बन सकता है।

इसके अलावा, गर्भावस्था के दौरान, इस तरह की समस्या बहुत ही घातक हो सकती है, क्योंकि इस तरह की समस्या गर्भपात का कारण हो सकती है। इस तरह की समस्या उत्पन्न होते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

आपकी बिंदु- एक दैनिक कॉलम है, जहाँ आपको हर मर्ज़ की दवा मिल सकती है। इसके लिए आप घरेलू नुस्खे, हेल्दी फ़ूड से लेकर तमाम सभी चीज़ों की जानकारियों और अपने सवाल इस ईमेल aapkihindieditor@zenparent.in पर भेज सकते हैं।

Open in app
loader